मुख्य समाचार

एक अबला नारी पड़ी मायावती पर भारी

एक अवला नारी पडी मायावती पर भारी

दयाशंकर सिंह और उसके परिवार के खिलाफ बसपा कार्यकर्ताओं और नेताओं द्वारा दी गई गालियों की गूंज यूपी के राजभवन में सुनाई दी। मायावती के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने वाले दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह ने राज्यपाल राम नाईक से मुलाकात की। उनके साथ दयाशंकर की मा भी मौजूद थी। इन लोगों ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंप कर मायावती के नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

मां के जज्बे के तूफान ने रोक दी बसपा की सहानुभूतिक लहर , स्वाति सिंह ने पलट दी बसपा की बाजी

बलिया के दयाशिकर सिंह द्वारा मायावती के खिलाफ अभद्र टिप्पणी पर जहां मायावती के समर्थन में लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा था। लोग दया के खिलाफ सड़को पर उतर रहे थे हर कोई दया के विरोध में आवाज बुलंद कर रहा था बलिया जिले के लोग भी दयाशंकर की टिपप्णी पर नाराजगी जता रहे थे। देश महिलाओं के सम्मान में उठ खड़ा था। भाजपा भी लोगों का विरोध देखते हुए दया को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया था।

पर बसपा कार्यकर्ताओं द्वारा मायावती के खिलाफ टिप्पणी का जिस तरह से विरोध किया गया दया की पत्नी और बेटी को जिस तरह से खुलेआम गालियां दी गई। अभद्र नारे लगाए गए, पोस्टरों और बैनरों में लिखित अभद्र नारों से जिस तरह दयाशंकर के परिवार को अपमानित किया गया उससे बहुजन समाज पार्टी को मिल रही सहानुभूति खत्म होती चली गई और दयाशंकर की पत्नी स्वाति सिंह ने फ्रंट पर आकर जिस तरह से मोर्चा संभाला उससे मायावती की नींद हराम होने लगी। बीएसपी कार्यकर्ताओं ने भाजपा से निष्कासित नेता दयाशंकर सिंह की गिरफ़्तारी के अलावा दयाशंकर सिंह की बहन को पेश करो दयाशंकर सिंह की बेटी को पेश करो जैसे नारे जिस तरह से लगाए थे वह लोगों के मन में बसपा के अनुशासन को लेकर भी सवाल पैदा करने लगा।

 

*स्वाति ने कहा मेरी 12 साल की बेटी ने क्या अपराध किया है*

आगे पढें अगले पेज पर

1 2Next page

Related Articles

Close