समाचार

गृहमंत्री अमित शाह ने सुरक्षा एजेंसियों को दी खुली छूट, आतंकियों का फंडिंग नेटवर्क ध्वस्त करो और..

कश्मीर दौरे पर आए गृहमंत्री अमित शाह ने सुरक्षा एजेंसियों को कई अहम निर्देश दिए हैं। गृहमंत्री ने आतंकवादियों का फंडिंग नेटवर्क ध्वस्त करने के लिए उन्हें खुली छूट दे दी है। अब आतंकवाद के लिए फंड जुटाने वाले कश्मीरी कारोबारियों, अलगाववादियों, पाकिस्तान में बैठे आतंकी संगठनों पर और कड़ा शिकंजा कसा जाएगा।

आतंकियों के लिए फंड जुटाना अब आसान नहीं होगा। दो दिन के दौरे पर जम्मू-कश्मीर आए गृह मंत्री अमित शाह सुरक्षा एजेंसियों को इन लोगों पर कार्रवाई के लिए पूरी छूट देकर गए हैं। शाह ने आतंकी फंडिंग के सभी नेटवर्क का पता लगाकर उन्हें नाकाम करने का निर्देश दिया है।

आपको बता दें कि, पिछले साल 3 करोड़ रुपये की भारतीय करंसी बरामद की गई थी। सूत्रों का कहना है कि जेल में बंद अलगाववादी नेता मसरत आलम, यासिन मलिक, शब्बीर शाह, बिट्टा कराटे जैसे लोगों के संपर्क में अब भी कई लोग हैं। जो देश और विदेश में बैठकर इनके इशारों पर फंड जुटा रहे हैं।

NIA के रडार पर हैं कई लोग

एनआईए और तमाम खुफिया एजेंसियों के पास कुछ लोगों के नाम की सूची भी है, जो सीधे रडार पर हैं। इनके ऊपर जल्द ही कार्रवाई हो सकती है। इसके अलावा राजोरी, पुंछ, कुपवाड़ा और पंजाब के कुछ लोग आतंकियों के लिए फंड जमा कर रहे हैं।

जब अमित शाह ने दे दी खुली छूट

कुछ लोग पंजाब की जेलों में भी बंद हैं, जो आतंकियों के लिए फंड जुटा रहे हैं। अमित शाह को सुरक्षा एजेंसियों ने इसकी जानकारी दी। ऐसे में गृह मंत्री शाह ने कहा है कि आतंकी फंडिंग के लिए जो जहां भी और जैसे भी काम कर रहा है, उसका पूरा नेटवर्क ध्वस्त कर दें। इसके लिए उन्हें पूरी छूट है।

संभव है कि आने वाले दिनों में एनआईए, एसआईए और पुलिस की ओर से इसे लेकर कड़ी कार्रवाई हो। आतंकियों के लिए ड्रग्स के जरिए भी फंडिंग हो रही है। इसे लेकर भी सख्त कार्रवाई करने की तैयारी है। कुछ पूर्व आतंकियों पर भी सुरक्षा एजेंसियों की नजर है।

Back to top button