समाचार

अमेरिका में मौजूद बेटे ने पिता को Live पिटते देखा तो पहले परेशान हुआ, लेकिन फिर उठाया ये कदम…

मोबाइल और इंटरनेट अबतक लोगों की कई तरह से मदद की है और लगातार मदद कर रहा है। मध्य प्रदेश के इंदौर में एक ऐसा वाकया हुआ जिसमें मोबाइल की मदद से ना केवल बदमाश तक पुलिस पहुंची बल्कि उसकी पूरी करतूत का सबूत मोबाइल के कैमरे में रिकॉर्ड भी हो गया। क्या है पूरा मामला आपको आगे बताते हैं।

बेटे ने ली गूगल की मदद

एक बेटे ने अमेरिका से गूगल पर इंदौर पुलिस का नंबर ढूंढा और मध्य प्रदेश के इंदौर में पिटते पिता को बचाया। घटना इंदौर के जूनी इलाके की है। जिस वक्त ट्रांसपोर्ट कारोबारी के साथ उनका एक जानकार शख्स गालीगलौज और मारपीट कर रहा था, उस वक्त वे कैलिफोर्निया में बैठे बेटे के साथ वीडियो कॉल पर थे।

बेटे ने पिता के साथ बदसुलूकी को लाइव देखा। सूचना मिलते ही जब पुलिस मौके पर पहुंची तो आरोपी भाग चुका था। कारोबारी ने उसके खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करा दिया है। पूरा मामले का वीडियो भी वायरल हो गया है।

घटना का वीडियो वायरल

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड होते ही वायरल हो गया है। गौरतलब है कि 63 साल के कैलाशचंद्र पारिक लोहामंडी में ट्रांसपोर्ट का कारोबार करते हैं। गुरुवार-शुक्रवार की रात करीब दो बजे वे अपने ऑफिस के बाहर बैठे थे।

वे अमेरिका के कैलिफोर्निया में रहने वाले बेटे अंकित के साथ वीडियो कॉल पर बातचीत कर रहे थे। इस बीच पवन पुत्र चांदमल पारिक वहां पहुंचा और उनसे बहस करने लगा। उनके बीच विवाद बढ़ा और उसने कैलाश से मारपीट शुरू कर दी।

पुलिस के आने तक भाग गया आरोपी

हालांकि, शोर सुनकर कैलाश के कर्मचारी उन्हें बचाने पहुंचे, लेकिन आरोपी मानने को तैयार नहीं था। उसने कुर्सी उठाकर कैलाश को मारने की भी कोशिश की। दूसरी ओर, कैलाश का बेटा अंकित ये सब फोन पर लाइव देख रहा था।

बेटे की शिकायत पर तुरंत पहुंची पुलिस

उसने पिता को लाइव पिटते देखा तो गूगल पर इंदौर पुलिस का नंबर सर्च किया। नंबर मिलते ही उसने पुलिस से संपर्क किया। सूचना मिलने के कुछ देर बाद पुलिस कैलाश की मदद के लिए पहुंच गई। लेकिन, तब तक आरोपी वहां से भाग चुका था। इस घटना ने साबित कर दिया है कि आज की तकनीकी का अगर आम आदमी भी होशियारी से इस्तेमाल करे तो वो कई मुसीबतों से बच सकता है।

Back to top button