समाचार

योगी 2.0 में पुलिस के डंडे का डर बढ़ा, 8 और बदमाश खुद पहुंचे थाने, 2 दिन मे इतने गुंडों का सरेंडर

उत्तर प्रदेश में दोबारा योगी सरकार आते ही गुंडों के चेहरे पर हवाइयां उड़ने लगी हैं। ये सभी गैंगेस्टर, हीस्ट्रीशीटर, बदमाश और गुंडे इस फिराक में थे कि योगी सरकार चुनाव हारे और वे फिर अपनी अपराध की दुनिया में बैखौफ होकर वारदातों को अंजाम देने लगें, लेकिन जनता ने अपनी वोट की ताकत से उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया है। योगी 2.0 के आते ही पुलिस ने फिर अपना डंडा निकाल लिया है और इस बार इस डंडे की ताकत और ज्यादा बढ़ गई है। इसी का नतीजा है कि डरे हुए गुंडे खुद थाने आकर हाजिरी लगा रहै हैं।

हिस्ट्रीशीटरों के आत्मसमर्पण का सिलसिला जारी

सहारनपुर जनपद के चिलकाना थाने में 13 हिस्ट्रीशीटर अपराधियों के आत्मसमर्पण करने के अगले ही दिन गागलहेड़ी थाने में भी 8 हिस्ट्रीशीटरों ने पहुंचकर भविष्य में अपराध न करने की कसम खाई है। एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि दोपहर के वक्त थाने के आठ हिस्ट्रीशीटर हाथ जोड़ कर थाने पहुंचे। उन्होंने भविष्य में अपराध न करने की कसम खाते हुए अपराधों में संलिप्त अपराधियों की जानकारी देने एवं पुलिस का पूरा सहयोग करने की बात कही।

इन हिस्ट्रीशीटरों ने कहा कि वे पुलिस के संपर्क में रहेंगे, जब भी पुलिस उन्हें बुलाएगी वे थाने आ जाएंगे। थाना पुलिस ने उन्हें सख्त हिदायत देकर समाज में ईमानदारी व शांति से जीवन यापन करने की हिदायत दी।

ये बदमाश हाथ जोड़े पहुंचे

थाने आने वाले हिस्ट्रीशीटरों में इरफान पुत्र यामीन उर्फ यासीन निवासी ग्राम हरौड़ा अहतमाल, सन्दीप कुमार पुत्र ओमप्रकाश निवासी बहेड़ी गुर्जर, रागिब पुत्र रियाज निवासी भगवानपुर रोड, गागलहेड़ी, माशूक पुत्र मंजूर निवासी गागलहेड़ी, ईनाम पुत्र जिन्दा निवासी हरौड़ा अहतमाल, शिवनाथ उर्फ सनाथ उर्फ निनाथ पुत्र हरदेवा निवासी ग्राम दिनारपुर, साजिद पुत्र निसार निवासी हरौड़ा मुस्तकम, गुलशेर पुत्र शमशाद निवासी हरौड़ा मुस्तकम शामिल हैं।

दर्जनों बदमाशों पर कसा शिकंजा

सहारनपुर के अलावा, मेरठ, हापुड़, लखनऊ, गोंडा, आजमगढ़ के गुंडो और माफियों पर पुलिस की कार्रवाई हुई है। सिर्फ दो दिन में दो दर्जन से ज्यादा बदमाशों पर पुलिस का शिकंजा कस चुक है। गौरतलब है कि कानून व्यवस्था के मुद्दे पर विधानसभा चुनाव में भाजपा को फिर से प्रचंड बहुमत मिलने के बाद से अपराधियों के हौसले पस्त हैं। पुलिस का खौफ उनके सिर चढ़ कर बोल रहा है।

Back to top button