राजनीति

‘एक बिहारी, सौ बिमारी’: TMC विधायक का विवादित वीडियो वायरल, BJP ने ममता को घेरा, पूछे ये सवाल

देश के प्रधानमंत्री बनने के सपना देख रहीं ममता बनर्जी के पार्टी के लोग दूसरे प्रदेश के लोगों के बारे में क्या सोचते हैं, यह उनके एक विधायक के वायरल वीडियो से साबित हो गया है। इस वीडियो में टीएमसी का एक विधायक बिहार के लोगों के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर रहा है और बिहारियों को बीमारी बता रहा है, साथ ही कह रहा है कि बंगाल को बीमारी से मुक्त करना है।

टीएमसी विधायक मनोरंजन ब्यापारी का वीडियो

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी के एक नेता का विवादित वीडिया वायरल हो रहा है। वीडियो टीएमसी विधायक मनोरंजन ब्यापारी का है जो एक जनसभा में बिहार विरोधी बयान देते दिखाई दे रहे हैं। तृणमूल विधायक ने बिहार के लोगों को “बीमारी” कहकर संबोधित किया और कहा है कि बंगाल को “बीमारी मुक्त” बनाना है।

वायरल वीडियो में वे कह रहे हैं, “अगर बंगाली खून आपकी रगों में दौड़ता है… अगर खुदीराम और नेताजी (सुभाष चंद्र बोस) का खून आपकी नसों में बहता है और अगर आप अपनी मातृभाषा और मातृभूमि से प्यार करते हैं, तो आपको जोर से चिल्लाना होगा – ‘एक बिहारी, सौ बीमारी’। हम रोग नहीं चाहते हैं। बंगाल को रोग मुक्त बनाएं। जय बांग्ला, जय दीदी ममता बनर्जी।”

मनोरंजन ब्यापारी ने हाल ही में कोलकाता पुस्तक मेले में ये विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा, “अगर बिहार में सब कुछ ठीक है, तो वापस बिहार जाओ।”

BJP नेता सुवेंदु अधिकारी ने बोला हमला

कभी तृणमूल कांग्रेस में रह चुके भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी ने वीडियो शेयर कर टीएमसी पर जमकर हमला बोला। अधिकारी ने लिखा, “पहले उनकी नेता ममता बनर्जी बिहार वासियों और यूपी वासियों को ‘बहिरागत’ (बाहरी) कहा था और अब बंगाल को बिहारियों से मुक्त करने का आह्वान किया जा रहा है।”

अधिकारी ने हाल ही में टीएमसी द्वारा उपचुनाव के लिए लोकसभा प्रत्याशी घोषित किए जाने वाले बिहार के अभिनेता-राजनेता शत्रुघ्न सिन्हा को भी इसे टैग किया है। अधिकारी ने ट्वीट किया, “एक बिहारी सौ बीमारी। बीमारी नहीं चाहिए, बंगाल को बीमार मुक्त करिये।” – मनोरंजन व्यापारी; तृणमूल विधायक।


सुवेंदु अधिकारी ने कहा-बिहारी बाबू श्री शत्रुघ्न सिन्हा जी से मेरा यह सवाल है की, जब वह आसनसोल में चुनावी प्रचार के लिए जायेंगे तो वे अपने नए राजनैतिक सहकर्मी के इन वाहियात बयानों पर क्या सफाई देंगे?”

बता दें कि ब्यापारी पहली बार के विधायक बने हैं, जो पिछले साल के बंगाल चुनाव में टीएमसी के टिकट पर हुगली से जीते थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्होंने 24 साल की उम्र में जेल में पढ़ना सीखा और कई किताबें लिखीं।

Back to top button