समाचार

गरीब किसान के बेटे के खाते में आये तीन अरब रुपये, तंगहाली में ज़िन्दगी काट रहा था किसान

मध्य प्रदेश के खंडवा में एक बेहद हैरान करने वाली घटना सामने आई है। खंडवा के देशगांव में रहने वाले एक युवक को इनकम टैक्स का नोटिस मिलने से उसके होश उड़ गए। आईटी डिपार्टमेंट ने नोटिस देकर जानकारी मांगी कि उसने तीन अरब रुपये का लेन देन क्यों किया?  इनकम टैक्स से नोटिस मिलने के बाद से युवक को समझ नहीं आ रहा कि उसके खाते से इतनी बड़ी राशि का लेनदेन कैसे हुआ।

लेकिन मामला तब समझ में आने लगा जब यह बात सामने आई कि उसके नाम से बैंक अकाउंट मुंबई में खोला गया है। जिससे तीन अरब रुपये का लेनदेन हुआ है। अब इस बात की शिकायत उसने इनकम टैक्स सहित पुलिस विभाग से की है कि उसके डॉक्यूमेंट से छेड़छाड़ कर किसी ने उसके साथ फ्रॉड किया है।

मार्च 2021 में मिला पहला नोटिस

खंडवा के देशगांव में रहने वाले प्रवीण राठौर को 2021 के मार्च-अप्रैल में पहली बार इनकम टैक्स का नोटिस मिला तो उसे लगा कि उसके साथ कोई मजाक कर रहा है। लेकिन 2021 में ही नवंबर महीने में उसे दूसरा नोटिस मिला और इनकम टैक्स विभाग ने प्रवीण से पूछा कि उसने 2 अरब 90 करोड़ रुपये का ट्रांजेक्शन अपने एक्सिस बैंक के खाते से किस वजह से किया है, तब प्रवीण के होश उड़ गए।

युवक को खाते के बारे में जानकारी नहीं

प्रवीण ग्रामीण क्षेत्र के एक छोटे से किसान का बेटा है। इतनी बड़ी राशि का ट्रांजेक्शन उसने कभी भी अपने बैंक अकाउंट से नहीं किया। सबसे बड़ी बात यह कि उसका एक्सिस बैंक में कोई अकाउंट ही नहीं है ना ही वह कभी मुंबई गया। नोटिस मिलने के बाद प्रवीण लगातार इनकम टैक्स और पुलिस के चक्कर काट अपनी फरियाद सुनाने में लगा हुआ है।

प्रवीण ने बताया कि मार्च 2021 मैं उसे पहली बार इनकम टैक्स का नोटिस मिला था तो उसने उस बात को हल्के में लिया। लेकिन दोबारा 2021 के नवंबर में ही उसे दूसरा नोटिस इनकम टैक्स से मिला तो उसने अपनी छानबीन शुरू की। प्रवीण को लगा कि वह जिस कॉल सेंटर में काम करता था उसे नोटिस वहीं से मिला होगा।

बता दें कि प्रवीण 2011 से 2015 तक इंदौर के कॉल सेंटर में नौकरी करता था और वहां उसके पीएफ का पैसा लेना था। उसे लगा वहां से नोटिस आया है लेकिन जब उसने अपने कॉल सेंटर के दफ्तर का पता किया तो पता चला कि यहां से उसे कोई नोटिस नहीं भेजा गया है। फिर वह खंडवा स्थित इनकम टैक्स के ऑफिस पहुंचा और इस नोटिस के बारे में पूछताछ की।

खंडवा इनकम टैक्स ऑफिस में उसे संतुष्ट जवाब नहीं मिला और उसे इंदौर इनकम टैक्स ऑफिस भेज दिया गया। जब वहां से भी उसे कोई जवाब नहीं मिला तो प्रवीण निराश होकर वापस लौट आया। 2022 फरवरी महीने में प्रवीण को तीसरा नोटिस मिला उसके बाद प्रवीण एक बार फिर इनकम टैक्स के खंडवा ऑफिस पहुंच कर अपना दुखड़ा सुनाया।

पुलिस में शिकायत करने पहुंचा

प्रवीण की पूरी कहानी सुनकर इनकम टैक्स में उसे पुलिस में कंप्लेंट करने की बात कही। प्रवीण स्थानीय थाने में रिपोर्ट करने पहुंचा तो मामला मुंबई का होने से उसे वहां जाने की सलाह दी गई। प्रवीण अपनी फरियाद इंदौर कमिश्नर ऑफिस लेकर भी पहुंचा। 24 फरवरी को उसने पुलिस कमिश्नर इंदौर के ऑफिस में आवेदन देकर पुलिस को बताया कि उसके साथ फ्रॉड हुआ है।

किसी ने उसके दस्तावेजों का गलत इस्तेमाल कर उसके साथ फ्रॉड किया है। प्रवीण ने बताया कि वह जीवन में कभी मुंबई नहीं गया। ना ही उसने एक्सिस बैंक में कभी कोई अकाउंट खोला है।

प्रवीण इस मामले की तह में जाने के लिए खंडवा स्थित एक्सिस बैंक के ऑफिस में पहुंचा और उसने अपने इस कथित खाते की जानकारी लेनी चाही, तब उसे पता चला कि यह खाता 2013 में खुला था और कुछ समय बाद इसमें लंबा ट्रांजैक्शन होने के बाद यह खाता बंद भी हो गया। इस खाते में प्रवीण का पैन कार्ड उपयोग किया गया है जिसके बाद प्रवीण ने खंडवा पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर पुलिस के सामने उसके साथ हुए फ्रॉड की शिकायत दर्ज करने की मांग की है।

Back to top button