समाचार

भारत के इन तीन गांवों में लड़कियों के विवाह पर है बैन, शादी करने पर है 1 लाख का जुर्माना

भारत में आज भी कई पिछड़े इलाके ऐसे हैं जहां लड़कियों के लिए ऐसी कुरीतियां प्रचलित हैं जिनके जरिए उनका शोषण किया जाता है। खास बात है कि कई जगह गांव के पंच ही इन कुरीतियों को शुरू करते हैं और उन्हें बनाए रखते हैं। लेकिन जैसे-जैसे प्रशासन का शिकंजा इन दूरदराज वाले इलाकों में पहुंच रहा है ऐसी कुरीतियों पर चोट भी पहुंच रही है।

पंच पटेलों का ये कैसा न्याय?

राजस्थान के बूंदी में काफी समय से पंच पटेलों का ऐसा अत्याचारपूर्ण फरमान चल रहा है। यहां पर यह पंच पटेल 3 गांव में रहने वाली कंजर समाज की युवतियों की शादी नहीं होने देते और युवतियों को जिस्मफरोशी के लिए मजबूर करते हैं। पंच पटेल विवाह करने पर लाख रुपए की पेनाल्टी भी लगा देते हैं। यानी विवाह करने पर लाख रुपए लड़की वालों को देने पड़ते हैं।

जिला कलेक्टर ने उठाया बीड़ा

इन पंच पटेलों की मनमानी के चलते यहां पर युवतियां चंद रुपयों के लिए वेश्यावृत्ति करती हैं। ऐसी युवतियों को वेश्यावृत्ति के इस दल दल से निकालने के लिए जिला कलेक्टर रेणु जयपाल ने ऑपरेशन अस्मिता चलाया है। इसके तहत अब कंजर समाज की युवतियां अपने प्रेमी के साथ विवाह रचाने लगी हैं। और साथ ही पंच पटेलों पर भी नकेल कसी जा रही है।

पंच पटेल और इस कुरीति को दूर करने के लिए बूंदी की जिला कलेक्टर रेनू जयपाल ने ऑपरेशन अस्मिता शुरू किया है। इसके तहत अब तक जिस्मफरोशी के लिए मजबूर होने वाली कई युवतियों ने अपने प्रेमी के साथ विवाह भी किए हैं। ऑपरेशन अस्मिता ने इनके घर बसाने और विवाह बंधन में बंधने की शुरुआत कर दी है। बूंदी के 3 गांव दबलाना शंकरपुरा, रामनगर और इंदरगढ़ मोहनपुरा में कंजर समाज के लोग निवास करते हैं।

ऑपरेशन अस्मिता ने जगाई आस

अब ऑपरेशन अस्मिता के तहत इनके विवाह और घर बसाने  राह आसान हुई है। बूंदी में अब तक 3 से 4 विवाह कंजर बालाओं की उनके प्रेमियों के साथ जिला प्रशासन की मौजूदगी में शादी कराई गई है और इन्होंने अपना घर भी बसाया है। जिला कलेक्टर ने कहा कि इस अभियान से धीरे-धीरे कुरीति को दूर करने के लिए विवाह पर ज्यादा से ज्यादा ध्यान दिया जाएगा। इसके अलावा सामूहिक विवाह की भी प्रशासन तैयारी कर रहा है। एक-एक विवाह तो होने ही लगे हैं। लेकिन सामूहिक विवाह एक साथ होने से कई युवतियों को इस कुरीति से निकाला जाएगा। वहीं पंच पटेलों पर भी कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

Back to top button