समाचार

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान बोले- भारत की मिसाइल का जवाब हम भी दे सकते थे, लेकिन…

भारत की मिसाइस गलती से पाकिस्तानी क्षेत्र में गिरने को लेकर पाकिस्तान में अब भी खलबली मची हुई है। अविश्वास प्रस्ताव के संकट से जूझ रही इमरान सरकार पर चौतरफा हमले हो रहे हैं। इन जुबानी हमलों के पलटवार में इमरान ने अपनी जुबान अब खोली है। उन्होंने भारतीय मिसाइल गिरने की घटना पर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

इमरान खान ने ये कहा

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को कहा कि हम भारतीय मिसाइल के पाकिस्तान में गिरने के बाद जवाब दे सकते थे, लेकिन हमने संयम दिखाया है। दरअसल,. भारत द्वारा गलती से एक मिसाइल फायर हो गई थी, यह पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में गिरी थी।

9 मार्च को भारतीय सुपरसोनिक मिसाइल (बिना हथियारों से लैस) लाहौर से करीब 275 किलोमीटर दूर पाकिस्तानी क्षेत्र में गिरी थी। इससे एक कोल्ड स्टोरेज को नुकसान पहुंचा था। हालांकि, इस हादसे में किसी की जान नहीं गई।

इमरान खान ने रविवार को पहली बार इस घटना पर अपना बयान दिया। उन्होंने कहा, हम भारतीय मिसाइल के पाकिस्तान में गिरने का जवाब दे सकते थे, लेकिन हमने संयम बरता इमरान खान पंजाब के हफिजाबाद जिले में रविवार को रैली को संबोधित करने पहुंचे थे।

इमरान खान के खिलाफ एकजुट विपक्ष अविश्वास प्रस्ताव लाया है। रैली में इमरान खान ने देश की सुरक्षा को लेकर भी बात की। उन्होंने कहा, हमें अपने रक्षा क्षेत्र और देश को मजबूत बनाना है।

भारत के जवाब से पाकिस्तान संतुष्ट नहीं

इससे पहले पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने शनिवार को कहा था कि वे मिसाइल हादसे पर भारत के जवाब से संतुष्ट नहीं हैं। पाक विदेश मंत्रालय ने इस मामले में संयुक्त जांच की मांग की थी। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया, हम जानना चाहते हैं कि भारत की तरफ से कौन सी मिसाइल फायर की गई, उसकी specifications क्या थीं।

जारी बयान में कहा गया है कि इतने गंभीर मामले को सिर्फ एक आसान से स्पष्टीकरण से खत्म नहीं किया जा सकता है। भारत जो इंटरनल जांच की बात कर रहा है, वो भी काफी नहीं है क्योंकि मिसाइल तो पाकिस्तान में गिरी है. ऐसे में हम संयुक्त जांच की मांग करते हैं जिससे हर तथ्य की निष्पक्ष जांच की जा सके। हालांकि भारत ने किसी भी तरह की संयुक्त जांच से साफ इनकार कर दिया है।

Back to top button