समाचार

खतरनाक मोड़ पर जंग, अमेरिका ने रूस की घेराबंदी के लिए 12000 सैनिक भेजे: तीसरे विश्व युद्ध की आहट

रूस-यूक्रेन की जंग धीरे-धीरे खतरनाक मोड़ ले रही है। अब तक केवल आर्थिक पाबंदियों की बात कर रहे अमेरिका ने पहला बड़ा सैनिक कदम उठाया है। अमेरिका ने रूस को घेरने के लिए उसके पड़ोसी देशों में अपने 12 हजार सैनिकों को भेज दिया है। हालांकि अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि उसके सैनिक रूस के खिलाफ किसी तरह का सीधा हमला नहीं करेंगे और उनकी बिल्कुल भी मंशा नहीं है कि तीसरा विश्व युद्ध शुरू हो। लेकिन अमेरिका के इस सैन्य कदम और बयान से तीसरे विश्व युद्ध की आहट साफ-साफ पता चल रही है। अगर विश्व के ताकतवर देशों ने समझदारी से काम नहीं लिया तो तीसरा विश्व युद्ध शुरू होते देर नहीं लगेगी।

नहीं दिख रहे शांति के आसार

बीते 17 दिन से रूस और यूक्रेन जंग लड़ रहे हैं। लेकिन अभी तक किसी तरह की शांति के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। वहीं अमेरिका समेत पश्चिमी देश भी इस जंग में कूद गए हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने रूस को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि पुतिन जीत नहीं पाएंगे। साथ ही उन्होंने रूस की घेराबंदी के लिए 12 हजार फौजियों को भेजा है। अब ये जंग काफी खतरनाक मोड़ पर आ गई है।

बाइडेन ने ये कहा

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि हम NATO के हर क्षेत्र के हर इंच की रक्षा करेंगे। साथ ही उन्होंने यूक्रेन में तीसरा विश्व युद्ध नहीं लड़ने पर भी जोर दिया। बता दें कि बाइडेन ने रूस बॉर्डर से सटे लातविया, एस्टोनिया, लिथुआनिया और रोमानिया में सेना भेज दी है। बाइडेन ने कहा कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन उस युद्ध में जीत नहीं पाएंगे, जो उन्होंने यूक्रेन के खिलाफ छेड़ा है।

यूक्रेन का साथ देते रहेंगे-बाइडेन

अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा कि यूक्रेन के लोगों ने रूसी सैन्य हमले का सामना करने के लिए बहादुरी और साहस का प्रदर्शन किया है, ऐसे में अमेरिका उसके बचाव में पीछे नहीं हटेगा। हम यूक्रेन को समर्थन देते रहेंगे। साथ ही यूरोप में अपने सहयोगियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहेंगे।

v

तीसरा विश्व युद्ध लड़ना नहीं चाहते

जो बाइडेन ने कहा कि मैंने रूस की घेराबंदी के लिए रूसी बॉर्डर पर अपने 12 हजार फौजियों की टुकड़ी को भेज दिया है। ये फौजी लातविया, एस्टोनिया, लिथुआनिया, रोमानिया में रूस को घेरेंगे। साथ ही बाइडेन ने कहा कि अगर हम रिटेलिएट करेंगे तो साफ है कि तीसरा विश्व युद्ध जरूर होगा। लेकिन हम अपने दृढ़ संकल्पित हैं कि NATO की रक्षा करेंगे। हालांकि हम यूक्रेन में तीसरा विश्व युद्ध नहीं लड़ेंगे।

बाइडेन ने पुतिन को दी चेतावनी

जो बाइडेन ने धमकी भरे अंदाज में कहा कि हम पुतिन पर अपना आर्थिक दबाव बढ़ाने और रूस को वैश्विक मंच पर अलग-थलग करने में सक्षम हैं। साथ ही कहा कि अमेरिकी पायलट और अमेरिकी सैनिक विमान और टैंकों के साथ रवाना हो रहे हैं। इसे मजाक न समझें. बाइडेन ने कहा कि G-7 देश कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, ब्रिटेन, अमेरिका ने रूस पर पाबंदी के लिए जरूरी कदम उठाए हैं।

Back to top button