समाचार

झारखंड के सीएम सोरेन के विधायक भाई के साथ उनकी पत्नी करती है क्रूरता, अब तलाक लेंगे

झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन के भाई बसंत सोरेन ने अपनी पत्नी पर क्रूरता और भाव नहीं देने का आरोप लगाया है। हेमंत सोरेन के छोटे भाई और दुमका विधानसभा क्षेत्र से झामुमो के विधायक बसंत सोरेन अपनी पत्नी से तालाक लेने जा रहे हैं। उन्होंने अपनी पत्नी हेमलता सोरेन पर कई गंभीर आरोप लगाया है। विधायक बसंत सोरेन ने रांची के फैमली कोर्ट में तलाक की अर्जी भी दाखिल कर दी है।

पत्नी पर लगाया क्रूरता का आरोप

फैमली कोर्ट के प्रिंसिपल जज की अदालत में दिए गए शपथ पत्र में विधायक बसंत सोरेन ने अपनी पत्नी हेमलता सोरेन पर क्रूर व्यवहार करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि उनकी पत्नी उनसे हमेशा क्रूर व्यवहार करती हैं। इसलिए वह पत्नी से तलाक लेना चाहते हैं।

14 मार्च को फैमिली अदालत में सुनवाई

बसंत सोरेन द्वारा शपथ पत्र दाखिल करने के बाद अदालत ने मूल वाद संख्या 175 /2022 के तहत यह मामला दर्ज कर लिया है। अब तलाक की अर्जी पर बसंत सोरेन 14 मार्च 2022 को अदालत के समक्ष पेश होकर अपना पक्ष रखेंगे। इस पर अदालत में पहले बहस होगी। इसके बाद अदालत तलाक की अर्जी को स्वीकार करेगी।

अब दोनों साथ नहीं रह सकते

झामुमो विधायक बसंत सोरेन ने फैमिली अदालत को कहा है कि उनकी पत्नी हेमलता सोरेन उनके साथ क्रूर रवैये से पेश आती हैं। इस कारण दोनों का एक साथ रहना अब संभव नहीं है। उन्होंने इस पर गंभीरता से विचार करते हुए अदालत से तलाक की अर्जी स्वीकार करने की अपील की है।

विधायक है सीएम हेमंत सोरेन के भाई बसंत

वर्ष 1980 में जन्मे बसंत सोरेन झारखंड मुक्ति मोर्चा के विधायक हैं। यह पार्टी इस समय झारखंड में कांग्रेस के समर्थन से सरकार चला रही है। उनके बड़े भाई हेमंत सोरेन इस समय झारखंड के मुख्यमंत्री हैं। बसंत सोरेन वर्ष 2020 में विधायक चुने गए थे। वह दिशोम गुरु और झारखंड अगल राज्य बनाने के लिए आंदोलन करने वाले शिबू सोरेन के पुत्र हैं।

पत्नी हेमलता सोरेन की नहीं आई प्रतिक्रिया

झारखंड के कद्दावर राजनीतिक परिवार से आने वाले बसंत सोरेन की पत्नी हेमलता सोरेन की ओर से अभी तक इस मामले पर कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। हेमलता सोरेन ने मीडिया में कोई बयान नहीं दिया है। संभावना जताई जा रही कि गुरुवार को इस मसले पर उनका बयान आ सकता है

 मालूम हो कि बसंत सोरेन ने Tweet कर 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर बधाई दी थी। उन्होंने लिखा था कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर झारखंड की सभी माताओ, बेटियों और बहनों को हार्दिक शुभकामनाएं। इस Tweet के ठीक दूसरे दिन यानी 9 मार्च को उन्होंने फैमिली अदालत में तलाक की अर्जी दी है। ऐसे में विपक्ष इसको मुद्दा भी बना सकता है। वैसे भी विपक्षी दल भाजपा अक्सर बसंत सोरेन को घेरती रही है।

Back to top button