समाचार

18 लाख और प्लॉट लेने के बाद शादी से ठीक पहले 11 लाख की मांग, नहीं आई बारात, धरने पर बैठी दुल्हन

अगर कोई दहेज लोभी है तो उसके लालच की सीमा नहीं होती। राजस्थान के भरतपुर में दहेज लोभियों ने शादी से ठीक एक दिन पहले और दहेज की मांग रख दी, जब लड़की के पिता ने इसमें असमर्थता जताई तो देहज लोभी लड़केवाले शादी करने से मुकर गए। दुल्हन और उसके घरवालो देर रात तक दूल्हे और बारात का इंतजार करते रहे लेकिन जब बारात नहीं आई तो मजबूरी में उन्हें पुलिस के पास जाना पड़ा। क्या है पूरा मामला आपको आगे बताते हैं-

जब तक जिंदा रहूंगी धरना दूंगी

राजस्थान के भरतपुर के मथुरा गेट थाना इलाके में रहने वाली लड़की दहेज के लिए शादी तोड़ने वाले लड़के के घर के बाहर धरना दे रही है। लड़की के आने के बाद लड़के के घर वालों ने अंदर से गेट बंद कर लिया। उसके लगातार आवाज लगाने के बाद भी किसी ने दरवाजा नहीं खोला। इधर, लड़की को धरना देते देख आसपास के लोग उससे विवाद करने लगे। लड़की ने कहा कि जब तक जिंदा हूं यहीं धरने पर बैठी रहूंगी।

बारात लाने के लिए मांगे 11 लाख

दरअसल, हाउसिंग बोर्ड इलाके में रहने वाली खुशबू की शादी प्रिंस नगर के कौशल से तय हुई, लेकिन वर पक्ष ने बारात लाने के लिए वधु पक्ष से 11 लाख रुपये देने की मांग कर दी। दुल्हन बनकर बैठी लड़की के पिता ने महेश ने इतनी बड़ी रकम देने से मना कर दिया।

इससे नाराज वर पक्ष के लोग बारात लेकर नहीं आए। देर रात तक बारात का इंतजार करने के बाद लड़की के पिता ने मथुरा गेट थाने पहुंचे और वर पक्ष के खिलाफ केस दर्ज कराया। पुलिस ने मामले की जांच कर रही है।

लड़के वालों ने बीमारी का बनाया बहाना

जानकारी के अनुसार लड़की के पिता ने लड़के के पिता से बारात न आने का कारण पूछा तो उन्होंने कहा कि लड़का अस्पताल में भर्ती है। इसके बाद सोमवार को लड़की लड़के के घर पहुंच गई। घर के बाहर धरना दे रही लड़की ने कहा कि अगर लड़का बीमार है तो उसे उससे मिलना है, बिना मिले वह यहां से नहीं जाएगी।

इस तरह लड़की के लड़के के घर के बाहर धरने पर बैठने से आसपास की महिलाओं और लोग उससे विवाद करने लगे। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह नहीं मानी। लड़की और लड़के के पड़ोसियों के बीच हो रहा विवाद काफी देर बाद शांत हो सका। हालांकि लड़की लड़के से मिलने की जिद पर अड़ी हुई है।

लड़की की सुरक्षा में पुलिस तैनात

जिला पुलिस प्रमुख जगत सिंह को लड़की के धरना देने की बात पता चली तो वह उससे मिलने पहुंचे। उन्होंने पुलिस से कहा कि बच्ची के साथ बुरा हुआ है, वह जब तक चाहे धरना दे सकती है और पुलिस को उसकी सुरक्षा करनी पड़ेगी। जगत सिंह ने कहा कि दहेज देना और लेना दोनों ही अपराध हैं।

बारात लाने से पहले 11 लाख रुपये की मांग करना गलत है। ऐसा कर लड़के वालों ने लड़की और उसके परिवार की बेज्जती की है। इधर, पुलिस अधिकारियों ने कहा कि लड़के पक्ष के लोगों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। पुलिस ने पीड़ित लड़की की सुरक्षा के लिए महिला पुलिस को तैनात किया गया है।

ये है पूरा मामला

हाउसिंग बोर्ड इलाके में रहने वाली खुशबू की शादी बीती चार मार्च को कौशल से होना तय हुई थी। खुशबू के पिता ने शादी से पहले कौशल के घर वालों को 18 लाख रुपये, सोने और चांदी के जेवरात, जरूरत का सामान और एक प्लॉट दिया था, लेकिन चार मार्च को लड़के के पिता ने बारात लाने से पहले 11 लाख रुपए की मांग और कर दी। इतनी बड़ी रकम का इंतजाम नहीं होने के कारण लड़की के पिता ने रुपये देने से मना कर दिया। इससे नाराज लड़के के पिता बारात लेकर नहीं आए।

Back to top button