समाचार

एग्जिट पोल में जमीन खिसकते देख बौखला गए टिकैट, सरकार को दे दी एक नई धमकी

सभी एग्जिट पोल में यूपी में बीजेपी की सरकार फिर बनते देख विपक्ष बौखला गया है। एग्जिट पोल से पहले इन विपक्षी नेताओं को सब ठीक दिख रहा था, छिटपुट बयान को छोड़ दें तो सभी मतदान से संतुष्ट थे और अपनी जीत का दावा कर रहे थे।

लेकिन जैसे ही एग्जिट पोल के नतीजे आए और उसमें हारने का अनुमान सामने आया इन विपक्षी नेताओं के सुर बदल गए। अब सबको गड़बड़ी और धांधली की आशंका नजर आने लगी है। इन्हीं में से एक हैं। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा बालियान खाप के चौधरी नरेश टिकैत, जिन्होंन धमकी भरे बयान दिये हैं।

टिकैत ने दी ये धमकी

नरेश टिकैट ने कहा है कि 10 मार्च तक सभी को अपनी वोट की निगरानी करनी है, ये देखना है कि जिसको वोट दिया था, उसे मिला है या नहीं। साथ ही उन्होने धमकी देते हुए कहा कि अगर मतगणना के दिन धांधली हुई, उसके बाद हालात बिगड़े तो इसके लिये शासन-प्रशासन जिम्मेदार होगा। उन्होने कहा कि मतगणना पूरी तरह से निष्पक्ष और पारदर्शी होनी चाहिये।

बीजेपी पर हमला

एग्जिट पोल आने के बाद नरेश टिकैत ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि पंचायत चुनाव में भगवा पार्टी ने जमकर सत्ता का दुरुपयोग किया था, जिसे पूरी दुनिया ने देखा था। ऐसे में बीजेपी पर विश्वास नहीं किया जा सकता है।

विधानसभा चुनाव की मतगणना के दिन भी धांधलेबाजी हो सकती है, पंचायत चुनाव में जनता खामोश थी, लेकिन अब विधानसभा चुनाव में ऐसा हुआ, तो उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

टिकैट की ट्रैक्टर धमकी

नरेश टिकैत ने आह्वान करते हुए कहा कि काउंटिंग के दिन सभी लोग एकजुट रहें। कानून के दायरे में रहकर धांधलेबाजी का पुरजोर विरोध करें। उन्होने कहा कि विजय जूलूस से भी परहेज करें।

धारा 144 को लेकर उन्होंने कहा कि प्रशासन धारा 288 भी लागू कर दे, तो उससे कोई फर्क नहीं पड़ता, किसान ट्रैक्टर पर अपनी वोट की निगरानी के लिये आएंगे, हमारा मकसद शांति व्यवस्था को खराब करना नहीं, बल्कि लोग एकजुट होंगे, तो प्रशासन पर दबाव रहेगा, कि वो निष्पक्ष मतगणना कराये।

राकेश टिकैट ने ये कहा

शनिवार को बीकेयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा था कि यूपी चुनाव में बीजेपी को नुकसान झेलना पड़ेगा, जनता बीजेपी सरकार से नाराज है। इस मौके पर राकेश टिकैत ने अप्रत्यक्ष रुप से वोटिंग में गड़बड़ी का भी आरोप लगाया।

उन्होने विपक्षी पार्टी के कार्यकर्ताओं से मतगणना को लेकर सजग रहने के लिये कहा था, उन्होने कहा था कि कार्यकर्ता काउंटिंग सेंटरों पर अपनी पहरेदारी बनाकर रखे। अगर उनकी पहरेदारी में कमी रही, तो यूपी जिला पंचायत जैसे नतीजे भी सामने आ सकते हैं।

वहीं आंदोलन को लेकर पूछे सवाल के जवाब में उन्होने कहा कि 2022 में पूरे देश में संगठन को मजबूत करने का काम किया जाएगा। जहां तक आंदोलन की बात है, अगर समझौते के तहत हुई मांगों को पूरा नहीं किया गया, तो आंदोलन कहां और कब होगा, जनता इसका फैसला लेगी।

Back to top button