बड़ी खबर : डोकलाम के बाद अब उत्तराखंड में घुसी चीनी सेना, जानिए क्या हैं हालत?

नई दिल्ली –  भारत ने भूटान के डोकलाम इलाके में चीन का सड़क निर्माण रोक दिया था। जिसके बाद से ही दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है। डोकलाम भारत, चीन और भूटान की सीमा पर स्थित है जिसपर सड़क निर्माण का कार्य रोकने के बाद से ही चीन भारत को लगातार युद्ध की धमकी दे रहा है। डोकलाम क्षेत्र को लेकर भारत और चीन के बीच युद्ध के हालात में चीनी सेना ने आज एक और दुस्साहस करते हुए उत्तराखंड के चमोली जिले के बाराहोती इलाके में घुसपैठ की है। Chinese troops enters in uttarakhand area.

 

भारतीय क्षेत्र में 1 किलोमीटर तक घुस आए चीनी जवान

खबरों के मुताबिक चीनी सेना के जवान 1 किलोमीटर तक भारतीय सीमा क्षेत्र में घुस आये। हालांकि, वो यहां पर करीब दो घंटे रहे और उसके बाद वापस लौट गये। हालांकि, ये घटना 25 जुलाई की है, जानकारी के मुताबिक चीनी सेना उत्तराखंड के चमोली जिले के बाराहोती इलाके में 1 किलोमीटर तक घुस आई और उन्होंने भारतीय चरवाहों को वहां से भगा दिया। हालांकि, चीनी सैनिक भारतीय सेना के गश्ती दल को देखकर वहां से वापस लौट गये।

 

एक साल पहले भी चीन ने की थी ये हिमाकत

आपको बता दें कि साल 2016 के जुलाई महीने के के सप्ताह में ही चीनी सेना ने उत्तराखंड के इस इलाके में घुसपैठ से पहले सिंथेटिक ऐपर्चर रेडार (एसएआर) से लैस उच्च श्रेणी के विमान का इस्तेमाल कर एक टोही मिशन चलाया था। जिसके बाद चीनी सैनिकों ने इस इलाके में घुसपैठ कि थी। आपको बता दें कि बाराहोटी उत्तरप्रदेश, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड पर एक ऐसी सीमा चौकी है, जहां आईटीबीपी के जवानों को हथियार ले जाने की अनुमति नहीं है।

भारत-चीन विवाद के पीछे  है डोकलाम

भारत-चीन विवाद की असल वजह कि तो इसकी मुख्य वजह भारत-चीन के बीच गुजरने वाली 3500 किलोमीटर लंबी सीमा रेखा है। जिसे लेकर दोनों देशों में साल 1962 में युद्ध हो चुका है। लेकिन, सीमा पर तनाव पर आज भी जारी है। यही तनाव अलग-अलग हिस्सों में भारत-चीन के बीच होने वाले सीमा विवाद का कारण बनाता है। फिलहाल जो सीमा विवाद है, वो भारत-भूटान और चीन सीमा के समीप स्थित तथा सिक्किम में भारतीय सीमा से सटी डोकलाम पठार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.