बॉलीवुड

जब आशा पारेख के घर के सामने ही बैठ गया था चाइनीज फैन, शादी करने के लिए दिखाने लगा था चाकू

हिंदी सिनेमा की दिग्गज अदाकारा आशा पारेख ने अपनी बेहतरीन अदाकारी से लाखों लोगों के दिलों में जगह बनाई हैं। यूं तो वर्तमान में आशा पारेख फिल्मों में काम नहीं करती लेकिन वह आए दिन किसी न किसी शो में शिरकत करती रहती हैं। बता दें, आशा पारेख ने अपने दौर में हिंदी सिनेमा को एक से बढ़कर एक सुपरहिट फिल्में दी। इतना ही नहीं बल्कि वह अपने दौर में इंडस्ट्री की बेहतरीन और सबसे महंगी अभिनेत्रियों की लिस्ट में भी शुमार थी।

asha parekh

एक दौर में आशा पारेख की एक झलक देखने के लिए फैंस बेताब रहते थे। इतना ही नहीं बल्कि फैंस के बीच आशा पारेख को लेकर इतनी दीवानगी रहती थी कि जब भी वह कहीं जाती थी तो हजारों लोगों की भीड़ से घिर जाती थी। अब हाल ही में आशा पारेख ने एक ऐसा किस्सा शेयर किया है जिसे सुनकर हर कोई हैरान रह गया है।

asha parekh

दरअसल, हाल ही में हुए एक इंटरव्यू के दौरान आशा पारेख ने खुलासा करते हुए बताया कि उनकी जिंदगी में एक ऐसा भी फैन था जिसकी वजह से उनका घर से आना जाना बंद हो गया था और वह काफी परेशान हो गई थी। इतना ही नहीं बल्कि आशा पारेख ने बताया कि वह फैन उनके घर के दरवाजे के सामने ही रहने लगा था। जब पड़ोसियों ने उसे दरवाजे के बाहर से हटाना चाहा तो वह चाकू दिखाकर लोगों को धमकी देने लगा था और आशा पारेख से शादी करने की जिद कर बैठा था।

asha parekh

फैन का कहना था कि वह जब तक आशा पारेख से शादी नहीं कर लेगा तब तक कहीं नहीं जाएगा। इसके बाद आशा पारेख को मजबूरन पुलिस में रिपोर्ट लिखवानी पड़ी। फिर उन्होंने इस फैन से अपना पीछा छुड़वाया। इस किस्से को याद करते हुए आशा पारेख ने अपने बयान में कहा कि, “एक चाइनीज फैन था, जो मेरे गेट के पास ही बैठ गया है, वहां से जाने का नाम ही नहीं ले रहा था। मैं जब घर से बाहर जाती या फिर घर के अंदर आती, तो वह गेट बजाने लग जाता था। फिर मुझे डर लगने लगा।”

asha parekh

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए आशा पारेख ने बताया कि, “इसके बाद जब मैं कार से अंदर आती, तो उसमें नीचे बैठ जाती थी, जिससे दिखाई न दूं। और जब मेरे पड़ोसियों ने उसे जाने के लिए कहा था, तो उसने चाकू दिखाकर उसे धमकाना शुरू कर दिया था। कहने लगा कि वह मार देगा क्योंकि वह मुझसे शादी करने के लिए आया है। इसके बाद मैंने तुरंत पुलिस कमिश्नर को कॉल किया। उन्होंने उसे पकड़कर आर्थर रोड जेल में डाल दिया। वहां उसे उसने मुझे लेटर लिखा और बेल करवाने की कहने लगा। वह बहुत चिपकू था।”

asha parekh

बता दें, आशा पारेख ने अपने करियर की शुरुआत साल 1959 में अभिनेता शम्मी कपूर के साथ फिल्म ‘दिल दे कर देखो’ से की थी। इसके बाद उन्होंने ‘तीसरी मंजिल’, ‘दो बंधन’, ‘फिर वही दिल लाया हूं’, ‘बहारों के सपने’, ‘जब प्यार किसी से होता है’ जैसी कई सुपरहिट फिल्में दी है। गौरतलब है कि, आशा पारेख ने अपने जीवन में शादी नहीं रचाई है।

asha parekh

इस बारे में बात करते हुए उन्होंने बताया कि, “नासिर हुसैन साहब सिर्फ एकलौते व्यक्ति थे, जिनसे मैंने प्यार किया। मैं उनके लिए दीवानी थी। प्यार करती थी। लेकिन उस समय इसका मतलब वैसा नहीं था, प्यार उन दिनों छिपा रहता था। पर्दा होता था। सच्चाई थी, गहराई थी। लेकिन आज कोई ठहराव नहीं है। हम आज के समय में बहुत प्रैक्टिकल हो गए हैं, जिस वजह से हम अपनी भावनाओं को खो चुके हैं।”

Back to top button