विशेष

लड़की ने सुनाई आपबीती: बॉयफ्रेंड ने इज्जत लूटी, फिर बेच दिया, रोज़ 20 लोग करते थे बलात्कार

जब प्यार शब्द सामने आता है। फ़िर एक प्यारा सा एहसास लोगों के दिलों में उठना चाहिए, लेकिन प्यार की आड़ में एक ऐसी घटना  देखने को मिली। जिससे आपकी रूह भी कांप उठेगी और शायद इस घटना को जानने के बाद आपका विश्वास भी प्यार शब्द से उठ जाएगा। आइए ऐसे में समझें यह पूरी कहानी…

बता दें कि जिस्मफरोशी के दलदल से सीधे मौत के मुंह में पहुंचने वाली एक महिला (Woman) की आपबीती ने ब्रिटेन (Britain) में सबको चौंका दिया है। इतना ही नहीं आपको बता दे कि उक्त महिला को हर रोज 20 लोगों के साथ सोने को मजबूर किया जाता था और जब महिला इन सबसे इंकार करती थी तो उसे बेरहमी से मारा पीटा जाता था, सो अलग। इतना ही नहीं क्रूरता की हद्द तो तब हो जाती थी। जब उक्त महिला को सिगरेट से जलाया भी जाता। वहीं मालूम हो कि इन जुर्मों को सहने के बाद महिला को अस्पताल में भर्ती किया गया और फिर भी महिला को बचाया नहीं जा सका और अब उस महिला की मौत हो गई।

Boyfriend Put her into Prostitution

बता दें कि ‘द सन’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, महिला (Woman) ने बीबीसी की एक डॉक्यूमेंट्री में बताया था कि जिस घर में उसे कैद करके रखा गया था, वहां दो लड़कियां और भी थी। ऐसे में सभी को उनकी मर्जी के खिलाफ क्लाइंट के सामने परोसा जाता था और एक दिन में उन्हें कम से कम 20 लोगों के साथ सेक्स (Sex) करने को मजबूर किया जाता था और जब सेक्स करने से इंकार करो तो उन्हें ज्यादती का सामना करना पड़ता था और महिला ने इस दौरान बताया कि कई नशेड़ी भी उसके घर आते थे, जो एक बार में पांच-छह घंटे वहीं रुककर उसका शोषण किया करते थे।

Boyfriend Put her into Prostitution

वहीं अपने इंटरव्यू के दौरान उक्त महिला ने बताया कि उसे एक लड़का प्यार के जाल में फंसकर रोमानिया से लेकर यूके आ गया था और उसके बाद West Midlands के एक फ्लैट में कैद कर दिया।

वहीं मालूम हो कि चूंकि ब्रिटेन में सेक्स वर्क लीगल है, इसलिए यहां छोटे-छोटे घरों में यही काम चलता है और दूसरे देशों से लड़कियों को अगवा कर यहां लाकर बेच दिया जाता है और जिसके बाद महिलाएं नरक की जिंदगी जीने को विवश हो जाती है और इस दलदल से बाहर निकलने वाली महिला ने बताया कि वो हर दिन हजार पाउंड कमाती थी, लेकिन सारा पैसा वो लोग ले जाते थे जिन्होंने उसे खरीदा था और हर पल उस पर नजर रखी जाती थी, कि वो अपनी मर्जी से खुलकर सांस भी नहीं ले सकती थी।

Back to top button