समाचार

मकर संक्रांति पर CM योगी ने दलित परिवार के घर खाई खिचड़ी: बताया क्यों पिछड़े, दलित BJP के साथ

अंग्रेजी कैलेंडर की बात करें तो मकर संक्रांति पर्व हिंदू धर्म का साल का पहला बड़ा त्योहार होता है। भगवान सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने का यह त्योहार भारत के हर भाग में किसी ना किसी रूप में मनाया जाता है। हिंदू धर्म के इसी पवित्र पर्व पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक बार फिर समतामूलक समाज का संदेश दिया है।

मकर संक्रांति के मौके पर योगी आदित्यनाथ गोरखपुर में एक दलित कार्यकर्ता के घर पहुंचे और उन दलित कार्यकर्ता के परिवार के साथ बैठकर खिचड़ी खाई और मकर संक्राति का पर्व उनके साथ मनाया। आगे आपको बताएंगे कि इस मौके पर योगी आदित्यनाथ क्या अहम बयान दिया।

cm-yogi-adityanath-will-have-food-with-dalit-family-in-gorakhpur

अमृतलाल भारती के घर पहुंचे योगी

तय कार्यक्रम के मुताबिक सीएम योगी आदित्यनाथ झूमिया गेट स्थित गोरखपुर. फर्टिलाइजर पहुंचे। यहां वे पार्टी के कार्यकर्ता दलित अमृतलाल भारती के घर गए और खाना खाया. सीएम योगी ने इस दौरान प्रदेश और देशवासियों के साथ-साथ पार्टी के कार्यकर्ताओं को मकर संक्रांति की शुभकामनाएं भी दी। इस मौके पर दलित-पिछड़ों के नाम पर छद्म राजनीति करने वाले को भी निशाने पर लिया। उन्होंने क्या कहा आगे बताते हैं-

समतामूलक समाज BJP का मिशन है-योगी 

yogi

इस मौके पर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि केंद्र और राज्य की योजनाओं का लाभ यूपी के हर जाति-धर्म के परिवारों को मिला है। कोई भी जमीन पर जाकर इसे देख सकता है। पिछड़ों और दलितों के नाम पर राजनीति करने वाले चाहे जो कहें यह सच्चाई छिप नहीं सकती कि गैस सिलेंडर, बिजली, आयुष्मान भारत योजना, मुख्यमंत्री जनआरोग्य योजना का लाभ समाज के हर तबके खासकर पिछड़ों और दलितों को मिला है।

कोरोना महामारी के दौरान फ्री में टेस्ट, उपचार और राशन की व्यवस्था की गई है। वैक्सीन भी उपलब्ध कराई जा रही है। डबल इंजन की सरकार का ये डबल डोज है। महीने में दो बार राशन फ्री दे रहे हैं। यही समता मूलक समाज की स्थापना का, भ्रष्टाचार मुक्त समाज और सुशासन का हिस्सा है। भाजपा अपने इसी मिशन को लेकर आगे बढ़ी है।

cm-yogi-adityanath-will-have-food-with-dalit-family-in-gorakhpur

उन्होंने कहा कि मकर संक्रांति के मौके पर सभी को धन्यवाद। दलित कार्यकर्ता को धन्यवाद की उन्होंने खिचड़ी के मौके पर मुझे खाने पर आमंत्रित किया।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में कुल 403 विधानसभा सीटें हैं। यूपी में 7 चरणों में चुनाव होंगे, पहले चरण के तहत 10 फरवरी को वोटिंग होगी। दूसरा चरण 14 फरवरी,. तीसरा चरण 20 फरवरी, चौथा चरण 23 फरवरी, 5वां चरण 27 फरवरी, छठा चरण 3 मार्च और 7 चरण 7 मार्च को संपन्न होगा। 10 मार्च को मतगणना होगी और नतीजे आएंगे।

Back to top button