चार देशों की यात्रा पर निकले पीएम मोदी पहुँचे जर्मनी, यात्रा को द्विपक्षीय संबंधों का बताया नया अध्याय!

बर्लिन: पीएम मोदी अभी चार देशों की यात्रा पर गए हुए हैं। इससे पहले वह इजरायल की यात्रा पर थे। पीएम मोदी इजरायल की यात्रा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री बन गए हैं। इनसे पहले आजतक कोई भारतीय प्रधानमंत्री इजरायल की राजनीतिक यात्रा पर नहीं गया था। पीएम मोदी अपनी इजरायल यात्रा के दौरान इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू से मिले और कई अहम समझौतों पर हस्ताक्षर किया। pm modi visit germany.

पीएम मोदी ने जब से भारत देश की सत्ता संभाली है, तब से वह लगातार देश को मजबूत करने के लिए लगे हुए। भारत के ऊपर कई देशों की बुरी नजर है। इनमें सबसे पहला नाम चीन और पाकिस्तान का है। ऐसे में भारत जीतने ज्यादा देशों से मित्रता का सम्बन्ध बना सके, इसके लिए अच्छा ही है। आये दिन चीन भारत को आँखें दिखाता रहता है।

भारत के सम्बन्ध जर्मनी से पहले से ही हैं अच्छे:

पीएम मोदी अपनी चार देशों की छः दिवसीय यात्रा के पहले चरण में आज जर्मनी पहुँच गए हैं। आपको बता दें भारत के सम्बन्ध जर्मनी के स्थ काफी समय से अच्छे रहे हैं। आजादी से पहले सुभाष चन्द्र बोस कुछ दिनों तक जर्मनी में भी रहे थे। वहीँ से मदद मिलने के बाद उन्होंने आजाद हिन्द फ़ौज की स्थापना की थी। पीएम मोदी अपने इस दौरे में जर्मनी के अलावा रूस, स्पेन और फ़्रांस भी जायेंगे।

यह यात्रा दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों का है नया अध्याय:

जर्मनी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वहाँ की चांसलर एंजेला मोर्केल से स्कलॉस मेसेबर्ग में मिलेंगे। पीएम मोदी ने जर्मनी की इस यात्रा को भारत और जर्मनी के द्विपक्षीय संबंधों का नया अध्याय बताया है। पीएम मोदी ने बताया कि वह एंजेला के साथ मिलकर व्यापार एवं निवेश, सुरक्षा एवं आतंकवाद रोधक, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, शहरी आधारभूत ढ़ांचा, कौहल विकास, रेलवे और नागरिक उड्डयन, स्वास्थ्य एवं वैकल्पिक चिकित्सा के साथ अन्य मुद्दों पर सहयोग के साथ भविष्य का खाका तैयार करेंगे।

कल पीएम मोदी का होगा चांसलरी में सैन्य स्वागत:

पीएम मोदी ने जर्मनी को काफी मूल्यवान सहयोगी भी बताया है। उन्होंने कहा कि भारत के रूपांतरण के लिए जर्मनी की छमताओं का इस्तेमाल मेरे हिसाब से काफी महत्वपूर्ण है। इस दौरे का औपचारिक भाग कल से शुरू होगा। कल पीएम मोदी का चांसलरी में सैन्य स्वागत किया जायेगा। जिसके बाद पीएम मोदी एंजेला मोर्केल से द्विपक्षीय चर्चा करेंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.