समाचार

पाक में चोरी के नाम पर महिलाओं के फाड़े गए कपड़े, नग्न अवस्था में कराई गई परेड। देखें वीडियो…

एक तरफ़ इमरान खान बोलते रहें भीड़ हिंसा बर्दाश्त नहीं। दूसरी तरफ महिलाओं के कपड़े फाड़कर सड़कों पर नग्न अवस्था में परेड कराई गई...

पाकिस्तान की सामाजिक और राजनीतिक स्थिति क्या है? यह कोई बताने की बात नहीं। भले ही वहां के पीएम इमरान खान बड़ी-बड़ी गीदड़-भभकी देते हो, लेकिन वहां अल्पसंख्यकों और महिलाओं के प्रति अत्याचार लगातार होते आ रहें हैं। जी हां अभी हाल-फिलहाल की एक घटना चर्चा में है कि जिस वक्त पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) भीड़ की हिंसा पर ज्ञान दे रहे थे।

Pakistan Women

उसी दरमियान चार महिलाओं के साथ क्रूरता की सारी हदें पार की जा रही थीं। गौरतलब हो कि फैसलाबाद में कुछ युवकों ने न केवल इन महिलाओं के साथ मारपीट की बल्कि उनके कपड़े भी उतार दिए और बीच सड़क पर महिलाओं के साथ हैवानियत का नँगा नाच किया। लेकिन इन सभी बातों से इमरान खान और उनकी पुलिस (PAK Police) अनभिज्ञ रही। वहीं अब इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

Pakistan Women

गौरतलब हो कि वीडियो के साथ यह दावा किया गया कि महिलाएं चोरी करती हुईं पकड़ी गईं थीं, जिसके बदले में उनके कपड़े उतरवा दिए गए और उनकी डंडों से पिटाई की गई। वहीं इस घटना को लेकर लोगों में सरकार के खिलाफ गुस्सा है।

हालांकि, बाद में पंजाब पुलिस (Punjab Police) ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार करने की बात कही है औऱ पुलिस का कहना है कि वारदात में शामिल आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

Pakistan Women

पंजाब प्रान्त के फ़ैसलाबाद की घटना…

वहीं जानकारी के लिए बता दें कि यह घटना पाकिस्तान के पंजाब प्रान्त की है और यहां के फैसलाबाद में चार महिलाओं के साथ बदसलूकी की गई। इसके अलावा बीच सड़क पर उनके कपड़े उतरवाए गए, इसके बावजूद लोग नहीं माने और लाठी-डंडो से उनकी पिटाई भी की।

वहीं घटना का पूरा वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। करीब एक घंटे तक चले इस घटनाक्रम में चारों महिलाएं दया की भीख मांगती हुई नजर आ रही हैं, लेकिन उनकी एक भी न सुनी जा रही।

चोरी का लगाया आरोप…

Pakistan Women

बता दें कि पीड़ित महिलाओं ने बताया कि वे फैसलाबाद के एक बाजार में कूड़ा बीनने गई हुई थीं। इसी बीच उनको प्यास लगी तो वे उस्मान इलेक्ट्रिक स्टोर पर जाकर पानी की बोतल मांगने लगीं। लेकिन दुकान मालिक सद्दाम ने उन्हें दुकान से चोरी करने वाला समझ लिया और आरोप लगाकर पिटाई शुरू कर दी।

ऐसे में इसी बीच वहां भीड़ इकट्ठा हो गई और भीड़ ने महिलाओं के कपड़े उतरवाए, साथ ही साथ उन्हें नँगा करके सड़को पर चलवाया और उनकी पिटाई भी की।

दूसरी तरफ़ इमरान बोले- हिंसा बर्दाश्त नहीं…

Pakistan Women

वहीं, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का कहना है कि उनकी सरकार धर्म के नाम पर भीड़ की हिंसा को बर्दाश्त नहीं करेगी और इसके लिए जिम्मेदार लोगों को नहीं बख्शेगी। इतना ही नहीं इमरान भीड़ द्वारा मारे गए श्रीलंकाई नागरिक प्रियंता कुमारा के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय में आयोजित एक शोक सभा को संबोधित कर रहे थे।

कुमारा की पिछले हफ्ते पंजाब प्रांत के सियालकोट में ईशनिंदा के आरोप में भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी और उसके शव को आग लगा दी थी। वहीं अब इसी बीच महिलाओं के साथ चोरी के नाम पर नँगा नाच पाकिस्तान में रचा गया। अब जरा सोचिए आख़िर किस तरीके के कानून की मांग भारत में चल रहा और अगर ईश निंदा के जिस कानून की बात बीते दिनों एक मुस्लिम संगठन ने की। वह आ जाएं तो देश की क्या स्थिति होगी? इसका सहज आंकलन कर सकते।

Back to top button