हिन्दी समाचार, News in Hindi, हिंदी न्यूज़, ताजा समाचार, राशिफल

मुख्यमंत्री योगी ने कहा प्रदेश में गौ रक्षा के नाम पर गुंडागर्दी नहीं की जाएगी बर्दाश्त!

वाराणसी: उत्तर प्रदेश की सत्ता सँभालने के बाद योगी ने प्रदेश का नक्शा बदलने के लिए भरपूर प्रयास किया। हालांकि प्रदेश में उनकी सरकार को बने 100 दिन पुरे हो चुके हैं। इस मौके पर योगी आदित्यनाथ ने टीवी पर एक इंटरव्यू दिया और कहा कि प्रशासन ने 100 दिनों में अच्छा काम किया है। उत्तर प्रदेश में इस समय विश्वास का माहौल बना हुआ है।

दर्ज हो रही है 100 प्रतिशत एफआईआर:

प्रदेश में बढ़ते अपराध के बारे में जब योगी से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इसका सबसे बड़ा कारण है कि अब 100 प्रतिशत एफआईआर दर्ज की जा रही है। जबकि पहले ऐसा नहीं था, कई अपराधों की एफआईआर ही दर्ज नहीं की जाती थी। अब अपराधियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की जाती है। पिछली सरकार में अपराधियों के खिलाफ एफआईआर ही नहीं दर्ज होता था।

जब सीएम योगी से गौ रक्षा के नाम पर हो रही हिंसा के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि प्रदेश में इस तरह की कोई घटना नहीं हो रही है। आपको बता दें पिछले कई दिनों से गौ रक्षा के नाम पर पुरे देश में लोगों को मौत के घाट उतारा जा रहा है। भीड़ द्वारा कई लोगों की पिट-पीटकर हत्या कर दी गयी। इस क्रोधी भीड़ का शिकार हिन्दू और मुस्लिम दोनों बराबर रूप से बने हैं।

अखिलेश ने किया होता काम तो अब तक चल रही होती मेट्रो:

सीएम योगी ने कहा कि गौ रक्षा के नाम पर शरारती तत्वों को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। प्रदेश में सबसे लिए कानून एक समान है, और कोई भी कानून के साथ खिलवाड़ नहीं कर सकता है। गौ सेवा हमारी सनातन परम्परा है। गौ रक्षा के नाम पर किसी भी व्यक्ति को कानून अपने हाथ में लेने का कोई अधिकार नहीं है। अखिलेश पर बरसते हुए योगी ने कहा कि अगर उन्होंने काम किया होता तो अब तक मेट्रो चल रही होती।

हम अखिलेश के बनाए हुए गड्ढे भर रहे हैं। सपा-बसपा के बनाये हुए गड्ढे भरने में समय लगेगा। राज्य में काम की परम्परा ख़त्म हो गयी थी। एंटी रोमियो दल पर बोलते हुए योगी ने कहा कि प्रदेश की बहू-बेटियों ने इसका स्वागत किया है। एंटी रोमियो दस्ता प्रदेश के रोमियो के खिलाफ है। यह लगातार चलने वाली प्रक्रिया है। सीएम योगी सहारनपुर हिंसा पर भी बोलें। उन्होंने कहा कि इसके पीछे खनन माफिया का हाथ है। जल्द ही वे पकड़े जायेंगे।

DMCA.com Protection Status