हिन्दी समाचार, News in Hindi, हिंदी न्यूज़, ताजा समाचार, राशिफल

महाराष्ट्र के किसानों ने ठुकराई सरकार की कर्जमाफी, कहा नहीं रुकेगी किसानों की आत्महत्या!

मुंबई: एक तरफ देश भर में किसानों के कर्जमाफी पर आग लगी हुयी है तो वहीँ दूसरी तरफ महाराष्ट्र में किसानों को सरकार द्वारा दिए गए कर्जमाफी के पैकेज को ठुकरा दिया है. आपको बता दें कि देवेन्द्र फडणवीस सरकार सरकार ने कर्जमाफी का एलान किया था, इस एलान को एक दिन भी नहीं हुए थे और किसान नेताओं ने इसे ठुकरा दिया.

किसानों की कोर कमिटी ने इसे खारिज कर दिया है :

किसान नेता रघुनाथ पाटिल का कहना है कि सरकार का ऑफर स्वीकार करने योग्य नहीं हैं. क्योंकि इससे पूरी तरह कर्जमाफी नहीं होगी. इससे किसानों की आत्महत्या नहीं रुकेगी. सरकार ने एमएस स्वामीनाथन कमिटी की सिफारिसों को नकार दिया है.

एमएस स्वामीनाथन कमिटी के सदस्यों के अनुसार किसानों को दिए गए कर्ज की राशी कमर्शियल बैंकों की तरफ से 43,000 करोड़ और कोआपरेटिव बैंकों से 34,000 हजार करोड़ है. कर्जमाफी के लिए सरकार की तरफ से केवल 34,000 करोड़ की राशी का एलान किया है, इसके विरोध में एमएस स्वामीनाथन कमिटी ने जुलाई में 9 से 23 तारीख के बीच धरना देने की बात भी कही है.

कमिटी के अनुसार ‘जागरूक-अभियान’ के बैनर तले राज्य के सभी शहरों में संघर्ष यात्रा रैली निकाली जाएगी. इसके अलावा नासिक से लेकर सभी शहरों तक किसानों की आवाज उठाई जाएगी. गौरतलब है की महाराष्ट्र की देवेन्द्र फडणवीस सरकार ने किसानों की कर्जमाफी के लिए डेढ़ लाख रूपये तक के सभी कृषि ऋण माफ कर दिए थे. कर्जमाफी का एलान करते हुए मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने बताया था कि इस फैसले से राज्य के ८९ लाख किसानों को फायदा होगा और राज्य सरकार पर 34,022 करोड़ का अतिरिक्त भार पड़ेगा.

आपको बता दें कि महाराष्ट्र सरकार की कैबिनेट ने यह फैसला शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे, एनसीपी प्रमुख शरद पवार, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अशोक चव्हाण, किसान नेता और सांसद राजू शेट्टी सहित सभी विरोधी दलों के नेताओं से बातचीत के बाद लिया गया है.

DMCA.com Protection Status