पाकिस्तान और बांग्लादेश में रह रहे हिंदुओं पर आई रिपोर्ट, पढ़कर उड़ जाएगा होश!

वाशिंगटन अमेरिका की एक सर्वोच्च हिंदू संस्था ने एक रिपोर्ट जारी किया है जिसके मुताबिक पाकिस्तान, मलेशिया और बांग्लादेश जैसे देशों में हिंदुओं को हिंसा सामाजिक उत्पीड़न का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल, द हिंदू अमेरिका फाउंडेशन (एचएएफ) ने दक्षिण एशिया में रह रहे हिंदुओं और प्रवासियों पर अपनी वार्षिक रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट के मुताबिक दक्षिण एशिया और दुनिया के अन्य हिस्सों में रह रहे अल्पसंख्यक हिंदुओं को विभिन्न स्तरों पर वैधानिक और संस्थागत भेदभाव, धार्मिक स्वतंत्रता पर पाबंदी, सामाजिक पूर्वाग्रह, हिंसा, सामाजिक उत्पीड़न जैसे हालात का सामना करना पड़ रहा है। Reports on the hindus living in Pakistan.

दक्षिण एशिया में उत्पीड़न का सामना कर रहे हैं हिंदू :

रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान, मलेशिया और बांग्लादेश जैसे देशों में हिंदुओं को हिंसा, सामाजिक उत्पीड़न और अलग-थलग होने जैसे हालात का सामना करना पड़ रहा है। इस रिपोर्ट में कहा गया कि, सबसे ज्यादा इस तरह के हालात का शिकार हिंदू महिलाएं हो रही हैं।

बांग्लादेश और पाकिस्तान जैसे देशों में हिन्दू महिलाओं के अपहरण और जबरन धर्मांतरण जैसे कई मामले सामना आ चुके हैं। इन हिन्दुओं को भेदभाव और अलगाववादी एजेंडे का भी सामने करना पड़ रहा है। एचएएफ ने रिपोर्ट में कहा है कि, ये हिंदू अल्पसंख्यकों के मानवाधिकारों का ‘भीषण उल्लंघन’ है।

मंदिरों और हिन्दुओं के मकानों पर भी खतरा :

एचएएफ की रिपोर्ट में जम्मू कश्मीर को भी इसी श्रेणी में रखा गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल ही अज्ञात लोगों ने 15 मंदिरों और 20 से अधिक मकानों को तोड़ डाला या उसमें आग लगा दी गई। इस तरह के हमलों के बाद कई हिंदू परिवारों को अपना घर छोड़कर दूसरी जगह जाना पड़ा है।

गौरतलब है कि हाल ही में पाकिस्तान से एक ऐसा ही मामला सामने आया था जिसमें थार जिले से एक नाबालिग हिंदू लड़की का अपहरण कर उसका धर्मांतरण करा दिया गया। जिसके बाद पाकिस्तान में काफी बवाल मचा और ऐसी खबर सामने आई की यहां का एक मुस्लिम परिवार का लड़का इस हिन्दू लड़की से शादी करना चाहता था।

***