ब्रेकिंग न्यूज़

शादी का चूड़ा उतरा नहीं और सूनी हो गई मांग, शहीद की पत्नी चीखकर बोली- उठ जा, एक बार देख ले..

ओए उठ जा.. मैंनू देख ले एक वारी' शहीद की पत्नी की चीख सुन नम हो गई सबकी आंखें

सोमवार (11 अक्टूबर) को जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में हुए आतंकी हमले में पांच जवान शहीद हो गए थे। इसमें रोपड़ के रहने वाले सिपाही गज्जन सिंह (Gajjan Singh) भी शामिल थे। बुधवार 13 अक्टूबर जब उनकी अंतिम यात्रा निकली तो बीवी का रो-रोकर बुरा हाल था। वह पति से बार-बार एक ही बात कह रही थी ‘ओए उठ जा… मैंनू तो देख ले एक वारी…’ पत्नी की यह हालत देख वहां मौजूद हर शख्स की आंख नम हो गई।

23 सिख रेजिमेंट के जवान गज्‍जन सिंह ने इसी वर्ष फरवरी में हरप्रीत कौर संग शादी रचाई थी। दोनों ने साथ जीने और साथ मरने की कसमें खाई थी। दोनों की शादी रोपड़ में बड़ी धूमधाम से हुई थी। दूल्हा बने गज्‍जन सिंह अपनी बारात में किसान यूनियन का झंडा लिए आए थे। उनकी यह तस्वीरें सोशल मीडिया पर बड़ी वायरल हुई थी। वे अपनी शादी में दुल्हन को ट्रैक्टर पर बैठाकर लाए थे। उनके निधन के बाद पति-पत्नी की यह तस्वीरें एक बार फिर इंटरनेट पर चर्चा का विषय बन गई है।

दो महीने पहले गज्‍जन के भाई की शादी भी थी। वे इस शादी में आए थे। उन्होंने शादी में परिवारवालों के साथ काफी अच्छा समय बिताया। लेकिन किसे पता था कि वे अपने परिवार के साथ इस तरह अंतिम बार एन्जॉय कर रहे हैं। मंगलवार 12 अक्टूबर वे दोबारा घर तो आए, लेकिन इस बार उनका शरीर तिरंगे में लिपटा था। हरप्रीत के हाथों का चूड़ा भी अभी उतरा भी नहीं था कि उनकी मांग सूनी हो गई।

पति का पार्थिव शरीर जब हरप्रीत की आंखों के सामने आया तो वह बस उसे निहारती रही। नम आंखों से हरप्रीत अपने पति से पंजाबी में बार-बार बस यही कहती रही कि ‘ओए उठ जा… मैंनू तो देख ले एक वारी…’ मतलब ‘एक बार उठ जाइए, मेरी तरफ देख लीजिए।’

शहीद गज्‍जन सिंह की अंतिम विदाई में शामिल होने बड़ी संख्या में लोग आए। हर कोई अपने इस हीरो के अंतिम दर्शन करना चाहता था। इस दौरान गज्‍जन के पिता चरण सिंह की हालत भी ठीक नहीं थी। बेटे के जानने का गम वह सहन नहीं कर पा रहे थे। वे खुद को ही नहीं संभाल पा रहे थे तो अपनी दुखी बहू को क्या संभालते। वे बस किसी तरह इस अंतिम संस्कार की प्रक्रिया को कर रहे थे।

शहीद गज्‍जन सिंह की मां इस अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हुई। उन्हें बेटे की शहादत की जानकारी नहीं दी गई। दरअसल वे बीमार है जिसके चलते उनसे बेटे की मौत की खबर छिपाई गई। गज्‍जन सिंह के अंतिम संस्कार से जुड़ी तस्वीरें और वीडियोज जिसने भी देखें उसका कलेजा छलनी हो गया। वह भी इस दुख को महसूस करने लगा।

Back to top button