विशेष

बहू को देख बिगड़ी ससुर की नियत, बीमार बेटे की आड़ में 7 महीने किया बलात्कार, ऐसे खुली पोल

घर की बहू लक्ष्मी समान होती है। जब वह घर आती है तो उसे एक बेटी की तरह मान सम्मान मिलना चाहिए। सास – ससुर को उसे एक बेटी की तरह अपना प्यार देना चाहिए। लेकिन उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक कलयुगी ससुर ने अपनी ही बहू का रेप कर दिया। ससुर की बहू के ऊपर बहुत दिनों से गंदी नियत थी। उसने बहू को ब्लैकमेल कर उसके साथ करीब 7 महीने तक बलात्कार किया। हद तो तब हो गई जब बहू की सास और जेठ ने इस मामले की जानकारी होने के बावजूद पीड़िता को केस दर्ज करने से मना कर दिया। उन्होंने कहा कि इससे परिवार की बदनामी होगी।

वह तो इस दरिंदे ससुर का मामला पुलिस तक तब पहुंचा जब पीड़िता के भाई को पूरी घटना की जानकारी मिली। उसने अपनी बहन को अपने ससुर के खिलाफ शिकायत करने के पर जोर दिया। इसके बाद बहू ने ससुर के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत दर्ज कारवाई। पुलिस का कहना है कि वह जल्द ही इस मेटर में एक्शन लेगी। पीड़ित महिला की उर 24 वर्ष बताई जा रही है। उसने अपनी शिकायत में हवस के भूखे ससुर की करतूत को विस्तार में बताया है।

महिला ने बताया कि करीब सात महीने पहले वह घर में अकेली थी। तब उसका ससुर रात को कमरे में आया और सोते समय उसका रेप किया। पीड़िता ने बताया कि उसका पति मानसिक रूप से बीमार रहता है। ऐसे में ससुर इस बात का फायदा उठाकर उसका रेप करता रहता है। बहू जब भी इस बात का विरोध करती है तो ससुर उसे संपत्ति से बेदखल कर घर से निकाल देने की धमकी देता है।

ससुर की गंदी हरकतों से तंग आकर बहू अपने मायके भी चली गई थी। लेकिन फिर उसका पति उसे लेने आ गया। पति ने कहा कि वह घरवालों से अलग रहेगा और अपनी बीवी को साथ में ले जाना चाहता है। हालांकि उसकी बीवी ससुराल जाने तो रेडी नहीं थी। उसे अभी भी अपने ससुर से डर लग रहा था। फिर बाद में गांव के प्रधान ने दोनों के बीच समझौता कराया था। लेकिन जब बहू अपने ससुराल गई तो फिर उसके साथ वही दुष्कर्म हुआ। पीड़िता ने बताया कि जब उसके पति की तबीयत खराब हुई तो ससुर ने उसका बलात्कार किया।

यह पूरी घटना अपने आप में बेहद शर्मनाक है। बहू को घर में बेटी का स्थान दिया जाना चाहिए। उसके साथ इस तरह की हरकत नहीं होनी चाहिए। इससे भी ज्यादा दुख तब होता है जब घर के बाकी लोग भी ऐसी हरकतों को दबाने की कोशिश करते हैं। इससे अपराधियों को और हिम्मत मिलती है। वह फिर किसी और को अपनी हवस का शिकार बनाते हैं। ऐसे में सही यही है कि ऐसी घटनाओं के होने पर तुरंत ही पुलिस को सूचित किया जाए। इन मामलों को दबाने का कोई फायदा नहीं है। बल्कि इसे दबाकर आप और ऐसी घटनाओं को बढ़ावा देते हैं।

वैसे इस पूरे मामले में आपकी क्या राय है हमे कमेंट कर जरूर बताएं। साथ ही इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए क्या किया जा सकता है इसे लेकर भी अपने विचार प्रकट करें।

Back to top button