समाचार

महिला कांस्टेबल ने बेटे के सामने DSP संग बनाया शारीरिक सम्बन्ध, वीडियो वायरल होने के बाद दोनों.’

स्वीमिंग पूल में संबंध बनाते वक्त महिला कांस्टेबल का 6 साल का बेटा भी वहीं मौजूद था

राजस्थान पुलिस के दो अधिकारियों की अश्लील हरकत सामने आई है जिसमें महिला कांस्टेबल और डीएसपी स्वीमिंग पूल में संबंध बनाते दिख रहे हैं, इस वीडियो से पूरे पुलिस महकमें में खलबली मच गई है। दोनों का ये वीडियो अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। सबसे ज्यादा हैरानी बात ये है कि जब ये सब हो रहा था उस वक्त महिला कांस्टेबल का 6 साल का बेटा भी वहीं था, उससे भी अश्लीलता की बात कही जा रही है।

मामले का खुलासा महिला कांस्टेबल के पति की रिपोर्ट के बाद हुआ। वो पहले वीडियो लेकर शिकायत करने पुलिस विभाग पहुंचे थे। कांस्टेबल के पति ने बताया कि पत्नी ने 13 जुलाई 2021 को अपने वाट्सअप स्टेटस में यह पूल वाली तस्वीरें शेयर की थी जिसमें दोनों अश्लीलता करते नज़र आ रहे थे। मामले का खुलासा होने के बाद दोनों को राजस्थान डीजीपी एमएल लाठर ने निलंबित करते हुए जांच के आदेश दिए हैं।

मामला गर्माने के बाद सीओ हीरालाल सैनी की तरफ से सफाई देते हुए कहा गया कि ये वीडियो एडिटेड हैं और किसी ने साजिश के तहत ये सब किया है। जिस महिला के साथ उनका वीडियो वायरल हो रहा है वो उस महिला को जानते भी नहीं हैं। हांलाकि वायरल वीडियो में साफ नज़र आ रहा है कि दोनों की बीच संबंध आपसी सहमति से बने हैं। हीरालाल सैनी नशे में धूत नज़र आ रहे हैं वहीं महिला कांस्टेबल भी स्वीमिंग पूल में संबंध बनाते वक्त बार-बार कैमरे की तरफ देखती हुई दिखाई दे रही हैं।

सबसे आश्चर्यजनक बात ये है कि वीडियो में महिला का 6 साल का बेटा भी दिखाई दे रहा है जिसके सामने ये अश्लील हरकत की गई। वीडियो में बच्चा चुपचाप खड़ा दिखाई दे रहा है सीओ हीरालाल सैनी ने बच्चे की तरफ भी गंदे इशारे किए। इस वीडियो को महिला ने अपने व्हाट्सअप स्टेटस पर डाला था वहीं से वीडियो वायरल हो गया।

दोनों अलग अलग जगह पदस्थ हैं

महिला कांस्टेबल और सीओ दोनों अलग अलग जगह पर पदस्थ हैं, महिला कांस्टेबल जयपुर कमिश्नरेट में तैनात है जबकि हीरालाला सैनी अजमेर जिले के ब्यावर में सीओ हैं। हीरालाल ब्यावर में 2018 से ही पदस्थ हैं बीच में उनका ट्रांसफर भी हुआ था लेकिन बाद में ट्रांसफर कैंसिल कर दिया गया। फिलहाल दोनों को विभागीय जांच पूरी होने तक जयपुर कमिश्नरेट और पुलिस मुुख्यालय में उपस्थिति देनी होगी।

एक महीने पुराना है मामला 

महिला कांस्टेबल के पति ने इस मामले में 2 अगस्त को नागौर थाने में शिकायत की थी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। अब मामला गर्माने के बाद कार्रवाई नहीं करने वाले थानेदार को नागौर पुलिस अधीक्षक के आदेश पर लाइन हाजिर कर दिया गया है। साथ ही लिखित शिकायत के बावजूद मुकदमा दर्ज नहीं करने का कारण पूछा गया है।

Back to top button