समाचार

कारोबारी विपिन जैन के घर हुई थी 1 करोड़ की चोरी, पुलिस ने 7 बदमाशों को दबोचा, ऐसे पकड़े गए चोर

27 अगस्त की रात सिविल लाइन थाना क्षेत्र के नंगलाबट्टू में स्थित श्री आदिनाथ ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस के चेयरमैन विपिन जैन के बंद मकान में चोरी हुई थी। ऐसे में विपिन जैन ने इसकी शिकायत थाने में दर्ज कराई थी। अब इस मामले में सिविल लाइन पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। उन्होंने एक करोड़ की हुई इस चोरी को लेकर बड़ा खुलासा किया है। पुलिस अभी तक 7 बदमाशों को भी गिरफ्तार कर चुकी है।

एसपी सिटी विनीत भटनागर व सीओ सिविल लाइन देवेश सिंह ने बुधवार को इस चोरी का खुलासा करते हुए बताया कि सात आरोपियों को गिरफ्तार कर नकदी और ज्वैलरी जब्त कर ली गई है। पुलिस ने एसओजी और सर्विलांस टीम के साथ तीन टीमें गठित कर रेकी, चोरी और खरीदारी के नेटवर्क से जुड़े इस गिरोह को दबोच लिया है।

इसमें इरशाद उर्फ इकबाल पुत्र स्व. निजामुद्दीन, इकराम पुत्र इरशाद व सितारा पत्नी इस्लामुद्दीन निवासीगण मदीना मस्जिद वाली गली मानकमऊ थाना कुतुबशेर सहारनपुर हाल निवासी शाहजहां कॉलोनी गली नंबर 9, समर गार्डन थाना लिसाड़ीगेट, कुलदीप गुर्जर निवासी गलीरा चौक हरिलोक कालोनी सदर बाजार सहारनपुर, अकबर अब्बासी निवासी 30 फुटा रोड गली नंबर 12 फतेहउल्लापुर थाना लिसाड़ीगेट के अलावा सराफ तनवीर अहमद व दिलशाद निवासी आली की चुंगी मैसूर पैलेस थाना मंडी सहारनपुर के नाम शामिल हैं।

आठवां आरोपी इस्लामुद्दीन पुत्र इरशाद निवासी मदीना मस्जिद वाली गली मानक मऊ थाना कुतुबशेर सहारनपुर हाल निवासी शाहजहां कालोनी गली नंबर 9, समर गार्डन थाना लिसाड़ीगेट अभी फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। वहीं पीड़ित कारोबारी का कहना है कि पुलिस द्वारा फिलहाल फ 40 फीसदी सामान ही बरामद किया गया है। बाकी सामान के फरार आठवें आरोपी के पास होने की उम्मीद है।

इस गिरोह को पकड़ने के लिए पुलिस ने नंगलाबट्टू रोड पर स्टेट बैंक के एटीएम के सामने मकान पर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज का सहारा लिया। इसमें एक संदिग्ध ई-रिक्शा चालक की धुंधली तस्वीर दिखाई दी। इसकी पहचान अकबर अब्बासी के रूप में हुई। अकबर की गिरफ़्तारी के बाद मामला एक के बाद एक खुलता चला गया। इंस्पेक्टर सिविल लाइन अब्दुल रहमान सिद्दीकी और एसएसआई रामकुमार ने पुलिस टीम के साथ मिलकर सभी आरोपियों को धर दबोचा।

इस वारदात को अंजाम देने के लिए गिरोह दिन में रेकी किया करता था। इस चोरी के लिए अकबर अब्बासी गिरोह के मेम्बर इस्लामुद्दीन की बीवी सितारा के साथ इलाके में चक्कर लगता था। इसी दौरान उसने कारोबारी के बंद घर की रेकी की। इसके बाद रात में आरोपी इरशाद, इकराम और कुलदीप कारोबारी के घर के बेडरूम की खिड़की को ग्रिल काटकर अंदर घुस गए। यहां उन्होंने सारा माल समेटा और नौ दो ग्यारह हो गए।

बाद में पुलिस ने चोरी का यह माल सहारनपुर के सुभान ज्वैलर्स के मालिक तनवीर अहमद व दिलशाद के यहां से जब्त किया। इनके बीच सौदा हुआ था कि जैसे जैसे माल बिकता जाएगा वैसे वैसे उन्हें रुपए मिलते चले जाएंगे। इन्होंने कुछ माल बेच करीब तीन लाख रुपए इरशाद व कुलदीप को दिये थे। इरशाद उर्फ इकबाल का शाहजहां कालोनी लिसाड़ीगेट मेरठ के अतिरिक्त सहारनपुर में एक घर है। वह अपने पूरे गिरोह संग आता था और वारदात को अंजाम देकर भाग जाता था।

एसपी सिटी ने जब यह खुलासा किया तो उन्होंने कारोबारी परिवार के विपिन जैन व उनके दोनों भाइयों को भी बुलाया। विपिन जैन के अनुसार एक करोड़ से अधिक की चोरी हुई थी जिसमें साढ़े छह किलोग्राम सोने, चांदी व हीरे के जेवरात शामिल थे। अभी तक पुलिस द्वारा 40 लाख का माल ही जब्त किया गया है।

जो माल बरामद हुआ है उसमें सोने का गले का लांग सेट, हसली सेट, जड़ाऊ रानी हार, एक सेट विद सोना लोकेट, दो चिक हार, लटकन वाला हार, कंगूरे वाला हार, डेमस हार, एक हार घुंघरू लटकन, दो सोने के ठोस कड़े, एक सोने का मंगलसूत्र, एक चेन कर्व विद तालानुमा पेंडेंट, एक चेन हाईवे डिजाइन, एक सेट झुमकी, पांच अंगूठी, गले की मोतीनुमा चेन, हीरे का सेट, दो हीरे के कड़े, एक हीरे का ब्रेसलेट, छह हीरे की अंगूठी विद नग, पांच हीरे की लेडीज अंगूठी, एक हीरे का पेंडेंट, एक सोने का सिक्का, एक सोने की गिन्नी, एक हजार का नोट सोने का पानी चढ़ा, पांच सो का नोट चांदी का पानी चढ़ा और 7.5 लाख रुपए शामिल थे।

Back to top button