जीएसटी काउंसिल ने दी राहत, टैक्स रिविजन से सस्ती होंगी ये 66 वस्तुएं!

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रविवार को जीएसटी में टैक्स दरों की बदलाव की घोषणा की, रिवाइज्ड दरों के अनुसार 66 वस्तुओं के लिए टैक्स दरों में बदलाव किया गया है. यह फैसला जीएसटी काउंसिल ने लिया है. इसके तहत किसानों को फायदा पहुंचाते हुए, काउंसिल ने ट्रैक्टर कंपोनेंट्स को 28% की स्लैब से हटाकर 18% में शामिल करने का निर्णय लिया है. इसके अलावा वित्त मंत्री ने बताया कि कंप्यूटर प्रिंटर को भी 28% से 18% की स्लैब में शामिल किया गया है. साथ ही जीएसटी काउंसिल ने काजू को भी 28 प्रतिशत से 18 प्रतिशक के स्लैब में शामिल करने का निर्णय लिया है.

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने यह जानकारी जीएसटी काउंसिल की मीटिंग के बाद दी उन्होंने 66 प्रोडक्ट्स की स्लैब में परिवर्तन के बारे में जानकारी दी. उन्होंने बताया कि जीएसटी काउंसिल की अगली बैठक अगले रविवार यानी कि 18 जून को होगी. उन्होंने जानकारी दी कि इस बैठक में 100 रूपये से कम टिकट वाले सिनेमा घरों को 28 प्रतिशत की बजाय 18 प्रतिशत टैक्स स्लैब में शामिल करने का निर्णय लिया गया. साथ ही यह भी बताया कि इससे अधिक मूल्य के टिकट वाले सिनेमा घरों को 28 फीसदी के स्लैब में ही रखा जायेगा.

वित्त मंत्री के अनुसार टेलिकॉम सेक्टर के लिए 28 प्रतिशत की टैक्स स्लैब बरकरार रहेगी. गौरतलब है कि टेलिकॉम इंडस्ट्री के प्रतिनिधियों ने इस टैक्स स्लैब में कटौती की मांग की थी. इसके अलावा कटलरी पर 18 की बजाय 12 प्रतिशत टैक्स लागू होगा, साथ ही इन्सुलिन पर टैक्स की दर कम की गयी है, इंसुलिन पर प्रस्तावित कर 12 से घटाकर 5 प्रतिशत कर दिया गया है. स्कूल बैग और अगरबत्ती पर भी टैक्स स्लैब में कटौती की गयी है, स्कूल बैग पर प्रस्तावित कर 28 प्रतिशत से घटाकर 18 प्रतिशत और अगरबत्ती पर 12 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत कर दिया गया है.

सैनिटरी नैपकिन्स के बारे में पूछे जाने पर वित्त मंत्री ने कहा कि इन बदलावों के अलावा अन्य वस्तुओं पर प्रस्तावित टैक्स में कोई बदलाव नहीं किया गया है. वित्त मंत्री ने बताया कि जीएसटी काउंसिल के पास 133 वस्तुओं पर जीएसटी दर में बदलाव की सिफारिश प्राप्त हुयी थी. जिन पर विचार करने के बाद 66 वस्तुओं पर टैक्स में बदलाव करने का फैसला लिया गया है.