ब्रेकिंग न्यूज़

मुगलों की इस निशानी को खत्म करेगी योगी सरकार, कट्टरपंथियों में फिर मची खलबली

दिल्ली से बिहार और बंगाल की तरफ जाने वाली शायद ही कोई ट्रेन होगी जो मुगल सराय रेलवे स्टेशन पर नहीं रूकती हो. इस रूट पर मुगल सराय रेलवे स्टेशन को सबसे अहम स्टेशनों में से एक माना जाता है, अगर आप इस रूट से सफर किये हैं तो जरूर इस रेलवे स्टेशन से आपकी कोई ना कोई याद जुड़ी होगी. लेकिन अब इस स्टेशन का नाम बदलने वाला है, उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने इस स्टेशन का नाम बदलने का फैसला लिया है. इतना ही नहीं इस काम के लिए सरकार का प्रस्ताव कैबिनेट में पास भी हो चुका है. मगर इसके क्रियान्वयन के लिए इस प्रस्ताव को रेल मंत्रालय द्वारा पास कराना होगा.

मुगल सराय रेलवे स्टेशन बनेगा पं. दीनदयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशन:

आपको बता दें कि योगी सरकार का यह प्रस्ताव पास होने के बाद मुगल सराय रेलवे स्टेशन को पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशन के नाम से जाना जायेगा. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम दीनदयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशन करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. मंगलवार को हुई योगी कैबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया गया. उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने इस सम्बन्ध में जानकारी दी. उन्होंने बताया कि जल्द ही योगी सरकार यह प्रस्ताव रेल मंत्रालय को भेजेगी. उन्होंने कहा कि कैबिनेट की बैठक में 3 मुद्दों पर मंजूरी दी गयी है. इसमें मुगल सराय रेलवे स्टेशन का नाम पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशन किया जाना भी शामिल है.

रेलवे स्टेशन पर हुयी थी पं. दीनदयाल उपाध्याय की आकस्मिक मृत्यु:

गौरतलब है कि इसी रेलवे स्टेशन पर स्वतंत्रता सेनानी और विचारक पंडित दीनदयाल उपाध्याय की आकस्मिक मृत्यु हुयी थी, उनकी मृत्यु के बारे में भी कोई स्पष्ट कारण नहीं ज्ञात है, आपको बता दें कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वतंत्रता सेनानी के साथ साथ एक दार्शनिक, विचारक और लेखक भी थे, उन्होंने एकात्म मानववाद का दर्शन दिया था, योगी सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जन्मशती वर्ष के आखिरी दिन, यानी कि 25 सितम्बर को अन्त्योदय के सभी कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे. साथ ही जिला स्तर के पुस्तकालयों को पंडित दीनदयाल उपाध्याय पुस्तकालय का नाम दिया जाएगा.

उन्होंने बताया कि परिवहन विभाग में अच्छे काम करने वाले ड्राइवरों को 1 लाख का इनाम पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर दिया जाएगा और ऊर्जा मंत्रालय, दीनदयाल उपाध्याय विद्युतीकरण योजना के तहत 40 लाख बीपीएल परिवारों को एलईडी भी उपलब्ध कराएगा. आपको बता दें कि मुगल सराय एक कस्बा है जो कि चंदौली जिले में पड़ता है, यह जीटी रोड और राष्ट्रीय राजमार्ग 2 पर पड़ने वाले बेहद अहम कस्बों में से एक है, बनारस और मुगल सराय के बीच की दूरी लगभग 15 से 18 किलोमीटर है.

Related Articles

Close