मुख्य समाचार

सिर्फ प्रधानमंत्री मोदी के 4 अक्षरों के इस मंत्र से झूम उठा दक्षिण अफ्रीका

पीएम मोदी का विदेशों में सम्बोधन हमेशा ही लाजवाब रहा है । अमेरिकी दौरे पर भारतवंशियों को कई बार लुभा चुके पीएम मोदी  ने इस बार दक्षिण अफ्रीका में रह रहे अपने देश के लोगों को भाषण से प्रभावित किया।

सिर्फ प्रधानमंत्री मोदी के 4 अक्षरों के इस मंत्र से झूम उठा दक्षिण अफ्रीका
विदेश में बसे भारतीयों को कैसे मोह लिया जाए, यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बखूबी जानते हैं। कभी अमेरिका जाते हैं तो मेडिसिन स्क्वायर में समां बांधते हैं तो कभी वहां सिलिकॉन वैली में । इस बार मौका दक्षिण अफ्रीका दौरे का रहा तो जोहानिसबर्ग पहुंचे। यहां हाल में सामने बैठे करीब 11 हजार भारतवंशियों से केम छो…कहकर मुखातिब होना शुरू हुए तो तालियों की गड़गड़ाहट शुरू हो गई। इस दौरान कुछ गुजराती और कुछ दक्षिण अफ्रीकी की दुआ-सलाम वाली भाषा में पहले भारतवासियों के दिल से दिल का नाता जोड़ा। फिर उन्हें भाईयो-बहनों के संबोधन के साथ भारतीय जीवन दर्शन का पाठ पढ़ाकर गौरवान्वित करना शुरू करा दिया। महात्मा गांधी के दक्षिण अफ्रीका से गहरे संबंधों को बताकर उन्होंने दोनों देशों के बीच रिश्ते को और मजबूती से जोड़ने की कोशिश की। जोहानिसबर्ग के भारतीयों पर भी नरेंद्र मोदी का जादू सिर चढ़कर बोला। इस दौरान जब किसी देश की तरक्की में चार अक्षर का सूत्र वे समझाने लगे तो सब लोग विजन सुनकर झूम उठे। मोदी यहीं नहीं रुके।ब मोदी ने दक्षिण अफ्रीका में रह रहे लोगों को भारतीय पुत्र-पुत्रियों की संज्ञा से नवाजा तो लोगों की तालियां देर तक बजती रहीं।

मोदी के होप फार्मूले ने कमाल कर दिया

मोदी ने कहा कि किसी भी देश की तरक्की तभी होती है जब वह होप(HOPE) फार्मूले पर काम करे। मतलब, समरसता (हारमनी), आशावाद (ऑपटिमिज्म), क्षमता (पोटेंशियल) और ऊर्जा (एनर्जी) के दम पर ही हम तरक्की कर सकते हैं। पीएम मोदी के इस विजन पर भारतीय समुदाय के लोगों ने खूब तालियां बजाईं। मोदी ने संबोधन में कहा कि दक्षिण अफ्रीका वह देश है जिन्होंने मोहनदास को महात्मा बनाया।

मादिबा शर्ट की यह है खासियत

दक्षिण अफ्रीका दौरे पर भारतीय समुदाय को संबोधित करते समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मादिबा शर्ट पहन रखी थी। यह शर्ट रंगभेद विरोदी नेता नेल्सन मंडेला की खास पहचान मानी जाती है। मोदी ने दक्षिण अफ्रीका में रह रहे भारतीयों से कहा कि भारतय संभावनाओं की धरती है। सरकार 2022 तक 50 लाख रोजगार पदा कर शहर और गांवों का कायाकल्प करेगी। उन्होंने कहा कि दक्षिण अफ्रीका सुरक्षा, संरक्षा और आर्थिक खुशहाली के मोर्चे पर अच्छा काम कर रहा है। ऐसे में हम एक भरोसेमंद साथी को अपने साथ जोड़ने की तैयारी कर रहे हैं।

Related Articles

Close