जानिये आशिकी में माहिर नेहरू गांधी परिवार के रहस्यमयी रिश्तों की अनकही दास्तान ..!

नेहरू और सन्यासिन श्रद्धा माँ की प्रेम गाथा हमेशा से ही छुपा के रखी गई किसी को इसके बारे में भनक भी नहीं थी|

nehru_shraddha_

नेहरू की बहन विजया और सैयद हुसैन का प्रेम प्रसंग

एस सी भट्ट के किताब द ग्रेट डिवाइड के अनुसार नेहरू की बहन अपने पिता के कर्मचारी सईद हुसैन के साथ अवैध संबंधों में संलिप्त पायी गयी थी | इससे नाराज नेहरू ने उनकी शादी जबरदस्ती रणजीत पंडित नमक किसी दूसरे आदमी से करा दी| हालाँकि विजय लक्ष्मी का सएद हुसैन के साथै एक बच्ची भी थी जिसका नाम चंद्रलेखा था |और रणजीत पंडित के साथ इनकी दो और बेटियां थी जिनके नाम रीता और नयनतारा था |

इंदिरा गाँधी और उनके अवैध प्रेम प्रसंग

शांतिनिकेतन से निकाले जाने के बाद से इंदिरा गाँधी काफी अकेली हो गयी थीं, क्योंकि इनकी माँ बीमार थी और पिता राजनीती में व्यस्त थे, ऐसे में नवाब खान (जो की आनंद भवन में शराब भेजता था) का बेटा फिरोज खान की नजदीकियां इंदिरा से बढ़ने लगी| तत्कालीन महाराष्ट्र के गवर्नर ने नेहरू को इंदिरा और फिरोज के अवैध संबंधों के बारे में चेतावनी भी दी | बाद में इंदिरा गांधी ने मुस्लिम धर्म अपना कर लंदन के मस्जिद में शादी कर ली, इस प्रकार वो इंदिरा गांधी से मैमुना बेगम बन गई| लेकिन नेहरु को ये बात रास नहीं आई ये उनकी राजनीती के मार्ग में रोड़ा था इसलिए उन्होंने फ़िरोज़ को बुला कर गांधी उपनाम दिलवाया जिसका मकसद उनका धर्म बदलना नहीं था बल्कि लोगो को बेवकूफ बनाना था|

ये तो सबको पता है कि राजीव के जन्म के बाद से इंदिरा और फिरोज एक दूसरे से दूर रहने लगे थे के इन राव ने अपनी किताब “नेहरू डायनेस्टी” में लिखा है की इंदिरा का दूसरा बच्चा फिरोज गांधी का नहीं था बल्कि एक मुस्लिम मोहम्मद यूनुस का था | इंदिरा और मोहम्मद यूनुस में गैर क़ानूनी सम्बन्ध थे| इंदिरा और मोहम्मद यूनुस में गैर क़ानूनी सम्बन्ध संजय को बड़े होने पर जब ये पता चला तो उसने इसका फायदा उठाते हुए अपनी माँ को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया उसका अपनी माँ पर काफी प्रभाव था | और संजय गांधी की मौत का जिम्मेदार इसीलिए इंदिरा को माना जाता रहा है|

अधिक जानें अगले पेज पर :

Leave a Reply

Your email address will not be published.