शायद पहले ही कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान दे चुका है मौत की सजा: मारुफ राजा!

कुछ दिनों पहले पाकिस्तान मानवाधिकार के कानूनों का उल्लंघन करते हुए भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को गैरकानूनी ढंग से मौत की सजा सुना चुका है। पाकिस्तान की इस घटना से देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी खलबली मच गयी थी। सभी ने पाकिस्तान के इस कदम की कड़े शब्दों में निंदा की। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान मानवाधिकार कानूनों का हनन कर रहा है।

पाकिस्तान के कब्जे से भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को बचाने और उसे न्याय दिलाने के लिए भारत सरकार ने प्रयास करना शुरू किया। जब कहीं कोई रास्ता नहीं दिखा तो भारत सरकार ने यह मामला अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में उठाया। वहां भारतीय नागरिक कुलभूषण की तरफ से 1 रूपये में वकालत करने वाले वकील ने उन्हें न्याय दिलाया।

पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के फैसले को मानने से किया इनकार:

अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने यह फैसला सुनाया कि कुलभूषण को पाकिस्तान इस तरह से मौत की सजा नहीं दे सकता है। यह मानवाधिकार का उल्लंघन है। बिना पूरी कार्यवाही के किसी भी नागरिक को मौत की सजा देना कानून की धज्जियां उड़ाने जैसा है। लेकिन पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय न्यायालय का फैसला मानने से इनकार कर दिया।

इंटेलिजेंस स्तर पर भी कुलभूषण के मारे जाने का डर:

अब इस कड़ी में एक नई बात सामने आयी है, जो सभी देशवासियों को चौका सकती है। जी हां भारत के रक्षा विशेषज्ञ मारुफ रजा का मानना है कि हो सकता है पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को पहले ही फांसी दे दी हो और अब वह जिन्दा ना हो। उन्होंने कहा कि भारत सरकार को पहला काम यह करना चाहिए कि, हमें अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में जीत मिली है, यह सोचकर सुस्त नहीं पड़ना चाहिए।

भारत सरकार को सबसे जरूरी कदम यह उठाना चाहिए कि राजनयिक और अंतरराष्ट्रीय कानून दोनों स्तरों पर कुलभूषण जाधव को काउंसलर एक्सेस मिले। कम से कम इससे यह तो पता चल जायेगा कि कुलभूषण अभी भी जिन्दा है या नहीं। इंटेलिजेंस स्तर पर भी यह डर बना हुआ है कि शायद अब कुलभूषण जिन्दा ना हो। पाकिस्तान कुलभूषण को ईरान से गिरफ्तार करके बलूचिस्तान प्रान्त ले गया और वहां उन्हें भारतीय जासूस घोषित कर दिया।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.