समाचार

क्या भारत-पाक में जल्द होने वाला है युद्ध! सेना प्रमुख ने कहा – तैयार रहें, किसी भी वक्त…

नई दिल्ली – कूटनीतिक और सामरिक दोनों मोर्चे पर भारत के हाथों पाकिस्तान की करारी हार के बाद इस बात की आशंका बन रही है कि पाकिस्तान की ओर से जल्द ही कोई प्रतिक्रिया हो सकती है। इसी बीच भारतीय वायुसेना प्रमुख बीएस धनोवा ने 12,000 अफसरों को एक चिट्ठी लिखकर कहा है कि आप सभी शॉर्ट नोटिस पर किसी भी ऑपरेशन के लिए तैयार रहें। वायुसेना प्रमुख द्वारा लिखी गई इस चिट्ठी के बाद भारत-पाक के बीच युद्द का अंदेशा बढ़ गया है। अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, वायुसेना प्रमुख ने यह लेटर 30 मार्च को लिखा था। Air chief bs dhanoa letter.

वायुसेना प्रमुख की चिट्ठी, युद्ध के लिए तैयार रहे सेना –

एयर इंडिया के चीफ मार्शल बीएस धनोवा ने इंडियन एयर फोर्स के लगभग 12,000 अफसरों को चिट्टी लिखकर अपने दिल की बात कही है। धनोवा ने इस चिट्ठी में सभी अफसरों को किसी भी वक्त बड़ी कार्रवाई के लिए तैयार रहने को कहा है। इस चिट्ठी पर 30 मार्च के साइन हैं यानी कि यह धनोवा द्वारा चीफ बनने के तीन महीने बाद लिखा है।

ऐसा माना जा रहा है कि भारत और पाकिस्तान के बीच मौजूदा हालात को लेकर ही उन्होंने अपने सभी अफसरों को किसी भी वक्त तैयार रहने के लिए कहा है। ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी वायुसेना प्रमुख ने सभी अफसरों को चिट्ठी लिखी है। इससे पहले, दो सेना प्रमुखों फील्ड मार्शल (तत्कालीन जनरल) केएम करियप्पा ने 1 मई 1950 और जनरल के सुंदरजी ने 1 फरवरी 1986 को इसी तरह की चिट्ठियां लिखी थीं।

पाकिस्तान के नापाक इरादों के लिए तैयार रहने की सलाह –

धनोवा ने अपनी चिट्ठी में इस बात का जिक्र किया है कि एयर फोर्स ने पिछले कुछ वक्त में कुछ मौकों पर खास प्रदर्शन नहीं किया है। उन्होंने वायुसेना के कम संसाधनों का भी उल्लेख किया है। धनोवा के मुताबिक वायुसेना अपने पास फाइटर प्लेन के 42 स्काड्रन रख सकता है लेकिन फिलहाल उसके पास सिर्फ 33 स्कवाड्रन ही हैं। पत्र में उन्होंने अपने प्रमोशन के दौरान सीनियर्स के खराब बर्ताव और शारीरिक शोषण पर भी लिखा है।

खत में धनोवा ने सेना में पर्याप्त संसाधनों की कमी पर ध्यान खींचा है। इसके अलावा उन्होंने हर एयरफोर्स स्टेशनों को चौकस रहने की सलाह दी है। इस खत के जरिए धनोवा ने पाक की ओर से लगातार हो रहे छद्म युद्ध की ओर इशारा किया है। उन्होंने सेना के कैंपों पर हमले को खतरनाक बताया है। गौरतलब है कि कल भी सेना के दो जवान आतंकियों से मुठभेंड के दौरान शहीद हो गए।

Back to top button