अध्यात्म

रुद्राक्ष की शक्ति के आगे विज्ञान ने भी टेके घुटने, इसे पहनने से मिलते हैं वैज्ञानिक लाभ

रुद्राक्ष (Rudraksha) हिन्दू धर्म में पवित्र माना जाता है। भगवान शिव से इसका खास संबंध होता है। मान्यता है कि रुद्राक्ष तन और मन दोनों की शुद्धि करता है। इससे एक पॉजिटिव एनर्जी (Positive Energy) निकलती है जो आपकी सेहत के लिए लाभकारी होती है। यही वजह है कि कई लोग रुद्राक्ष की माला पहनते हैं। वहीं मंत्रों का जाप करने के लिए भी रुद्राक्ष की माला का इस्तेमाल किया जाता है। ये आपके जीवन की कई समस्याएं दूर करता है। इसका सिर्फ आध्यात्मिक ही नहीं बल्कि वैज्ञानिक लाभ भी होता है। आज हम आपको रुद्राक्ष के 6 बेहतरीन लाभों के बारे में बताने जा रहे हैं।

rudraksha

1. दिमाग के लिए लाभकारी: रुद्राक्ष प्राचीन धर्मग्रंथों में बहुत अहम माना गया है। कहा जाता है कि ये बड़े से बड़ा रोग भी ठीक करने की क्षमता रखता है। इसका हमारे मन और शरीर पर पॉजिटिव असर होता है। . इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी फ्लोरिडा के वैज्ञानिकों ने भी रुद्राक्ष का लोहा माना है। उनके अनुसार रुद्राक्ष दिमाग के लिए बहुत लाभकारी होता है। इसके अंदर इलेक्ट्रोमैग्नेटिक पावर होती है। ये शक्ति हमारे शरीर को कई सकारात्मक लाभ देती है।

rudraksha

2. दिल की बीमारी में फायदेमंद: मान्यताओं की माने तो रुद्राक्ष पहन मनुष्य को शारीरिक एवं मानसिक मजबूती मिलती है। इसे पहनने के बाद शरीर स्थिर हो जाता है और दिलेवम इंद्रियों पर अच्छा प्रभाव डाल कई समस्याएं हल करता है। खासकर एकमुखी रुद्राक्ष हृदय संबंधी रोगों को दूर करने में सबसे ज्यादा काम आता है। ये आपकी बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन को सुधारता है। हालांकि एक मुखी रुद्राक्ष दुर्लभ होता है। ये बहुत कम मिलता है। मिल भी जाए तो बहुत महंगा होता है।

rudraksha

3. ब्लड प्रेशर कम करे: पंचमुखी रुद्राक्ष को धारण करने से ब्लड प्रेशर कम होता है। यह तंत्रिकाओं को शांत करता है। इससे स्नायु तंत्र यानी लिगामेंट्स में सतर्कता आती है। इसे पुरुषों, महिलाओं और बच्चों को पहनना चाहिए। इससे आपकी सेहत अच्छी रहती है और घर में खुशहाली बनी रहती है।

rudraksha

4. मन को शांत करे: मन को शांत और एकाग्र करने में शानमुखी, यानी छह मुखों वाला रुद्राक्ष काम आता है। इसे 14 साल से छोटे बच्चों को पहनाया जाए तो उनकी पढ़ाई में एकाग्रता बढ़ जाती है।

rudraksha

5. दर्द में आराम: रुद्राक्ष के मोती में डायनामिक पोलेरिटी गुण होते है। इस कारण इसमें चुंबकीय लाभ होते हैं। चुंबकीय प्रभाव की वजह से रुद्राक्ष शरीर की नसों में रूकावट को खत्म करता है। माना जाता है कि . रुद्राक्ष की माला पहनने से शरीर के हर तरह के दर्द और बीमारी से छुटकारा मिल जाता है।

rudraksha

6. नकारात्मक उर्जा से बचाए: रुद्राक्ष डायइलेक्ट्रिक गुण वाला होता है। अर्थात ये नेगेटिव एनर्जी को स्टोर कर सकता है। इसलिए यदि हम शारीररिक या मानसिक रूप से तनावग्रस्त हैं तो ये रुद्राक्ष शरीर से निकलने वाली नकारात्मक ऊर्जा को अपने अंदर स्टोर कर लेता है। इससे अनचाही ऊर्जा स्थिर होती है और तंत्रिका तंत्र में सुधार आता है। साथ ही हॉर्मोन का संतुलन भी बनता है। इसलिए यदि आपके आसपास ज्यादा नकारात्मक ऊर्जा रहती है तो रुद्राक्ष पहनना फायदे का सौदा होता है। ये आपको हर तरह की नेगेटीव एनर्जी से बचाता है।

Show More
Back to top button