अध्यात्म

देवगुरु की इन बातों को मानकर आप हो सकते हैं जीवन में सफल और कर सकते हैं मुश्किल से मुश्किल काम!

बृहस्पति को देवताओं का गुरु कहा जाता है। यह स्वर्ग में रहने वाले सभी देवताओं का मार्गदर्शन करते थे। इनकी कृपा जिस भी व्यक्ति पर होती है, उसे धन-दौलत, सुख-समृद्धि, विद्या एवं पुत्र की प्राप्ति होती है। देवगुरु बृहस्पति को बहुत ही विद्वान माना जाता है। उनकी विद्वता के आगे अच्छे-अच्छे लोग भी हार जाते थे।

कठिन से कठिन काम कर सकते हैं बड़ी आसानी से:

देवगुरु बृहस्पति ने कई ऐसी बातों के बारे में बताया है, जो हर किसी के लिए बहुत काम की हैं। उनकी इन्ही बातों का फायदा देवताओं ने भी लिया था। उन्होंने 3 ऐसी महत्वपूर्ण बातों के बारे में बताया है, जिसको ध्यान में रखकर आप जीवन के हर क्षेत्र में सफलता पा सकते हैं। उनकी इस बात को मानने के बाद आप कठिन से कठिन काम भी बड़ी आसानी से कर पायेंगे।

श्लोक:

त्यज दुर्जनसंसर्ग भज साधुसमागमम्।
कुरू पुण्यमहोरात्रं स्मर नित्यमनित्यताम्।

अर्थ:

किसी भी मनुष्य को ऐसे व्यक्ति से कोई सम्बन्ध नहीं रखना चाहिए, जिसके विचार और उसकी आदतें बुरी हों। हर व्यक्ति को सज्जन पुरुष और बुद्धिमान व्यक्ति के ही सम्पर्क में रहना चाहिए और उनसे ही मित्रता करनी चाहिए। अच्छे लोगों की संगति में रहने वाला ही अच्छे और पुण्य के कार्य करता है और लोगों का भला करता है।

श्लोक:

तैस्तच्छरीरमुत्सृष्टं धर्म एकोनुग्च्छति।
तस्ताद्धर्मः सहायच्श्र सेवितव्यः सदा नृभिः।।

अर्थ:

जीवन में विपरीत परिस्थियां आने पर हर कोई साथ छोड़कर चला जाता है लेकिन धर्म व्यक्ति का साथ कभी नहीं छोड़ता है। जब कोई भी आपका साथ नहीं देता है, उस समय आपके द्वारा किया हुआ पुण्य कार्य ही आपकी मदद करता है। पहले के किये गए यही कार्य आपकी हर परेशानी से रक्षा करते हैं।

श्लोक:

सकृदुच्चरितं येन हरिरित्यक्षरद्वयम्।
बद्धः परिकरस्तेन मोक्षाय गमनं प्रति।।

अर्थ:

हर मनुष्य को किसी भी परिस्थिति में भगवान को याद करना चाहिए। भगवान का स्मरण करने से ही जीवन के हर क्षेत्र में सफलता पायी जा सकती है। जो व्यक्ति यह बात जान लेता है और करने लगता है, उसे जीवन में हर सुख की प्राप्ति होती है। भगवान को याद करने से ही अंत में वह स्वर्ग की प्राप्ति करता है।

Show More

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button