ब्रेकिंग न्यूज़

प्रेम‍िका के बेडरूम में प्रेमी ने क‍िया अजीबो-गरीब काम, जिसे देख उड़ गए हर किसी के होश

उत्‍तर प्रदेश के लखीमपुर में एक प्रेमी ने प्रेमिका के साथ कहासुनी होने के बाद अपनी जिंदगी को खत्म कर दिया। खबर के अनुसार लखीमपुर खीरी की सदर कोतवाली के गुटियाबाग मोहल्ले में एक लड़के ने फांसी लगा ली। इनके बीच किसी बात को लेकर लड़ाई हुई थी। लड़ाई होने के बाद प्रेमिका घर से बाहर चले गई। कुछ देर बाद जब प्रेमिका वापस घर लौटी तो उसने अपनी प्रेमी को फांसी के फंदे पर लटका हुआ पाया।

इस बात की खबर जैसे ही गांव के लोगों को लगी, उन्होंने तुरंत पुलिस को इसकी जानकारी दी। पुलिस ने मौके पर आकर प्रेमी के शव को पहले फंदे से नीचे उतारा, उसके बाद उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने प्रेमिका से पूछताछ भी की। पूछताछ के दौरान प्रेमिका ने बताया कि उसकी अपनी प्रेमी के साथ मामूली कहा सुनी हो गई थी और वो लंबे समय से परेशान चल रहा था।

पुलिस के अनुसार प्रेमी अपनी प्रेमिका से म‍िलने के ल‍िए आया था और इसी बीच दोनों के बीच मामूली कहा सुनी हो गई। युवक ने प्रेमिका के ही बेडरूम जाकर में फांसी के फंदे पर लटकर अपनी जिंदगी को खत्म कर दिया। वहीं प्रेमिका जब अपने प्रेमी के लिए मिठाई लेकर रसोई से अपने बेडरूम के पास पहुंची, तो उसने बेडरूम का दरवाजा अंदर से बंद पाया। प्रेमिका ने आवाज लगाई और प्रेमी को गेट खोलने को कहा। लेकिन काफी देर तक प्रेमी ने गेट नहीं खोला। जिसके बाद प्रेमिका ने खिड़की से देखा तो युवक फांसी के फंदे से लटका हुआ था।

प्रेमी को फांसी के फंदे पर लटका देख प्रेमिका के होश उड़ गए। प्रेमिका ने दरवाजा खोलने की काफी कोशिश की। कुछ समझ न आने पर उसने शोर मचाना शुरू कर दिया। जिसके बाद पड़ोसी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर आकर शव को फांसी के फंदे से उतारा और पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया। लखीमपुर खीरी की सदर कोतवाली के गुटियाबाग मोहल्ले में प्रेमिका का घर था।

पुलिस ने मौके पर मौजूद लोगों का बयान भी दर्ज किया। लोगों ने पुलिस को बताया कि ये दोनों एक दूसरे को दो साल से जानते थे और तभी से इनका प्रेम प्रसंग चल रहा था। प्रेमी आदर्श शुक्ला रोज प्रेमिका के घर आया करता था। नौकरी पर जाने से पहले आदर्श शुक्ला प्रेमिका से मिलने के लिए उसके घर पहुंचा था। घर में प्रेमिका अपनी मां के साथ रहती है। जिस समय आदर्श शुक्ला घर आया, उस समय प्रेमिका की मां घर में नहीं थी।

ईसानगर थाना क्षेत्र के गांव पैकापुर में रहने वाला आदर्श शुक्ला की आयु 21 साल की थी। वो प्रधानमंत्री आवास योजना का सर्वेयर था। वो लखीमपुर शहर में अपने फूफा के घर मोहल्ला सुंदरपुरम में रहता था। मंगलवार की सुबह वो ऑफिस जाने के लिए घर से निकला। लेकिन वह अपनी प्रेमिका के घर चले गए। प्रेमिका घर पर अकेली थी और उसकी मां काम पर गई हुई थी। प्रेमिका आदर्श के लिए कुछ खाना लाने के लिए दुकान पर गई थी। जब वो वापस घर आई तो उसने आदर्श को घर के एक कमरे में फांसी में लटका हुआ पाया।

सूचना पाकर शहर कोतवाल मौके पर पहुंच गए। बताया जा रहा है क‍ि आदर्श कुछ दिनों से परेशान था। ये दोनों शादी करना चाहते थे। लेकिन आर्दश के परिवार वाले इस रिश्ते के खिलाफ थे। क्योंकि प्रेमिका दलित है। प्रेमिका ने पुलिस को बताया कि उसके रिश्ते को आदर्श के घरवाले कबूल नहीं कर रहे थे। तभी से वह परेशान था। आदर्श उससे शादी करना चाहता था, लेकिन ये हो नहीं पा रहा था। शायद इसी वजह से आदर्श ने आत्महत्या कर ली।

अपर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार सिंह के अनुसार अभी तक की जांच में पता चला है कि युवक अपनी महिला मित्र से मिलने उसके घर गया था। वहां उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। पुलिस अभी मामले की जांच कर रही है।

Show More
Back to top button