अध्यात्म

अगर जीवन में शनिदेव पैदा कर रहे हैं बाधा, तो कर दें ये सरल उपाय, मिल जाएगा छुटकारा..

 

शनि देव जातक को उसके कर्मों के हिसाब से फल देते हैं, जिसकी वजह से शनि को कर्म फल दाता कहा गया है। जो लोग जीवन में अच्छे कार्य करते हैं, उनको शनि देव शुभ फल प्रदान करते हैं। वहीं जो लोग बुरे कर्म करते हैं, उनका जीवन दुखों से भर देते हैं और उन्हें हार कार्य में केवल बाधा ही आती है। अगर आप पर शनि देव की बुरी दृष्टि पड़ गई है, तो आप डरे नहीं। बस नीचे बताए गए उपायों को कर दें। इन उपायों को करने से शनि देव प्रसन्न हो जाते हैं और आपके अनुकूल ही फल देंगे।

शनि देव की बुरी दृष्टि पड़ने पर नौकरी में खासा परेशानी आती है। कई लोगों की नौकरी एकदम से चली जाती है और नई नौकरी मिलने में लंबा समय लग जाता है। अगर आप भी इस परेशानी का सामना कर रहे हैं। तो इस उपाय को कर दें। इस उपाय को करने से एक महीने के अंदर नौकरी लग जाएगी। उपाय के तहत आप शनिवार को एक कटोरी में सरसों का तेल लें। बाएं हाथ की मध्यमा अंगुली डालकर शनि मंत्र का जाप करें। इसके बाद इस तेल का दीपक पीपल के पेड़ के नीचे जलाएं। ये उपाय शाम के समय करें और लगातार 5 शनिवार करें। इस उपाय को करने से आपकी नौकरी लग जाएगी।

नौकरी लगने के दूसरे उपाय के तहत शुक्रवार को काले चने भिगोएं। इन चनों को अगले दिन सरसों के तेल में बिना मसाला व नमक मिलाएं पका लें। शनिवार को इसे किसी पशु को खिला दें। वहीं जो लोग नौकरी स्थान में परिवर्तन चाहते हैं। वो शनिवार की शाम को घर के मुख्य द्वार पर सरसों के तेल का दीपक जलाएं। दीपक के पास खड़े होकर शनि चालीसा का पाठ करें। ये उपाय करने से नई जगह पर और मनचाही नौकरी आपको लग जाएगी।

किसी भी कार्य को पूरा होने में अगर बाधा आ रही है। तो आप शनिवार के दिन चीटियों को आटा डालें और मछलियों को आटे की गोलियां खिलाएं। साथ में ही इस दिन मीठी चीज का सेवन न करें। ये प्रयोग लगातार शनिवार के दिन करें।

शनि देव आप से प्रसन्न रहें इसके लिए आप शनिवार को पीपल के वृक्ष के नीचे सरसों के तेल का चौमुखी दीपक जलाएं। शनि मंत्र का 108 बार जाप करें और पीपल के वृक्ष की परिक्रमा करें। ये उपाय 11 शनिवार करें। इस उपाय को करने से शनिदेव की कृपा बन जाएगी और रूके हुए सारे कार्य पूर्ण हो जाएंगे।

शनिवार को हनुमान जी का पूजन करें। पूजन करते हुए हनुमान जी को सरसों का तेल जरूर अर्पित करें। साथ में ही हनुमान चालीसा को पढ़ें।

शनिवार का दिन शनि देव से जुड़ा होता है और शनि देव का प्रिय रंग काला होता है। इसलिए आप इस दिन काले रंग के वस्त्र धारण करें और हो सके तो काली वस्तुओं का दान भी करें।

इस दिन आप शनि मंदिर जाकर पूजा करें और कालें तिल व लोहे की वस्तु शनि देव को अर्पित कर दें। ये उपाय करने से शनि देव की कृपा बन जाएगी और ये आपको अनुकूल ही फल देंगे।

Back to top button
?>