समाचार

युवती के साथ 12 लोगों ने किया गाड़ी में रेप, वीडियो वायरल होने पर हुआ खुलासा, जानें पूरा मामला

राजस्थान में एक युवती के साथ 12 लोगों ने दरिंदगी दिखाई और चलती गाड़ी में युवती का रेप किया गया। इस घटना का खुलासा गैंगरेप का वीडियो वायरल होने पर हुआ। ये वीडियो काफी दिनों से उत्तर प्रदेश में सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी। जब इस वीडियो की जानकारी पुलिस विभाग को लगी, तो इसकी जांच शुरू की गई। जांच में पुलिस ने पाया की ये वीडियो राजस्थान के जयपुर की है। जबकि जिस लड़की के साथ रेप किया गया है वो यूपी की रहने वाली है। जांच में युवती कहां की है इस बारे में पुलिस को जानकारी लगी। जिसके बाद पुलिस ने उसे जयपुर बुलाकर केस दर्ज करवाया। इस मामले में अभी तक तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

अपनी जांच में पुलिस ने पाया कि ये वीडियो 6 महीने पहले की थी। जिसमें एक लड़की के साथ तीन अलग-अलग कारों में सामूहिक दुष्कर्म व मारपीट की गई है। जयपुर एडिशनल पुलिस कमिश्नर अजय पाल लांबा ने घटना के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि पीड़िता ने अपने साथ हुए अपराध की शिकायत दर्ज करवा दी है। शिकायत दर्ज करवाते हुए पीड़िता ने पुलिस को बताया कि वो बीते साल 2020 के अक्टूबर महीने की 19 तारीख को न्यू सांगानेर रोड स्थित साईं कृपा होटल में रुकी थी। इसी दौरान उसकी जान-पहचान का एक संजू बंगाली नामक युवक उसे मिला। संजू ने युवती को पैसों का लालच देकर उसे एक दूसरे लड़के के साथ भेज दिया। उस लड़के ने पीडिता को मांग्यावास में एक कार में बैठा लिया। लड़के ने उसे जिस कार में बैठाया, उसमें पहले से ही चार अन्य लोग मौजूद थे। कार में बैठते ही इन सबने पहले लड़की का मोबाइल छीन लिया और उसके साथ रेप किया। जबकि एक आरोपी ने इस पूरी घटना का वीडियो शूट किया।

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि उसके साथ इन सब ने मारपीट भी की थी। वहीं उसी दौरान दो कारों से कुछ और लोग वहां पहुंच गए और उसे खींचकर दूसरी कार में ले गए और दुष्कर्म किया। पीड़िता ने कुल 12 लोगों को पर केस दर्ज करवाया है। इन सब पर दुष्कर्म और मारपीट की धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है।

पीड़ित के अनुसार वो इन आरोपियों में केवल संजू, गुलाब और अभिषेक नाम के आरोपी को जानती है। गुलाब ने उसे धमका कर कहा था कि अगर उसने किसी को भी इस घटना के बारे में जानकारी दी तो वो उसकी वीडियो को वायरल कर देगा। इस डर से ही पीड़िता 6 महीनों तक चुप रही और किसी से कुछ नहीं कहा। हालांकि इस दौरान ये वीडियो किसी ने वायरल कर दिया, तब जाकर पुलिस के सामने ये पूरा मामला आया।

एडिशनल पुलिस कमिश्नर अजयपाल लांबा ने इस केस के बारे में अधिक जानकारी देते हुए कहा कि वायरल वीडियो के सामने आते ही हमने तत्काल एक्शन लिया। कई पुलिस टीमें बनाई गई। इस पुलिस टीम में जयपुर शहर के चारों डीसीपी सहित करीब 10 आईपीएस, 40 सीआई और 100 पुलिसकर्मी शामिल थे। इसके साथ ही आरोपियों व महिला की तलाश शुरू की गई।

रविवार सुबह जाकर पता चला कि पीड़िता यूपी के हरदोई की थी। इसके बाद स्थानीय पुलिस की मदद से पीड़िता को जयपुर बुलाया गया। मानसरोवर थाने में मामला दर्ज करवाया गया है। साथ ही पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल करवाकर 161 सीआरपीसी के तहत बयान दर्ज करवाया। वहीं पीड़िता के वायरल हो रहे वीडियो को आईटी टीम की मदद से रुकवाया दिया गया है।

पीड़िता के बयान के आधार पर पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। पुलिस की टीमें लखनऊ, इंदौर और जयपुर के कई इलाकों में दबिश कर रही है। अभी तक अभिषेक, मोंटी और संजू बंगाली की गिरफ्तारी की जा चुकी है। पुलिस को इन तीनों आरोपियों से पता चला है कि ये गैंग अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने का काम करता है। पुलिस ने दावा किया है कि जल्द ही अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Back to top button