ज्वैलर के बेटे ने ही की थी घर में लूटपाट, पहचान के डर से साड़ी से घोट दिया था गला

उत्तर प्रदेश में कुलदीप सराफ के घर शुक्रवार को लूटपाट की गई थी और इस दौरान इनकी पत्नी कंचन वर्मा की हत्या भी कर दी गई थी। इस वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों को पुलिस ने पकड़ लिया है और इस मामले में कुलदीप सराफ व पत्नी कंचन वर्मा का बेटा मुख्य आरोपी पाया गया है। पुलिस के अनुसार इनके बेटे योगेश वर्मा उर्फ राज ने अपनी पत्नी व दोस्तों के साथ मिलकर अपनी मां की हत्या की है।

पुलिस ने जांच में पाया कि 24 वर्ष के योगेश वर्मा को उनकी मां ने घर से निकाल दिया था। जिसके बाद से योगेश वर्मा अपनी प्रेमिका के साथ रहने लगा। योगेश वर्मा की प्रेमिका शादीशुदा थी और उसकी एक बेटी भी है। इस वजह से योगेश वर्मा की मां को ये रिश्ता पसंद नहीं था। वहीं योगेश वर्मा की नौकरी चले गई थी। जिसके कारण इनके पास पैसे नहीं थे। पैसे न होने पर योगेश वर्मा ने अपने ही घर में लूटपाट करने की योजना बनाई और लूटपाट करने के लिए पहुंच गया। लेकिन कंचन वर्मा घर पर मौजूद थी, जिसके कारण योगेश वर्मा ने मां की हत्या कर दी। जांच में पुलिस ने पाया कि साड़ी से कंचन वर्मा का गला घोटा गया था।

सीसीटीवी की मदद से पुलिस ने ये केस हल किया है। महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगने के बाद देर रात पुलिस ने सराफ के बेटे, उसकी प्रेमिका और कई लोगों को हिरासत में लिया। दरअसल कुलदीप सराफ के घर से पुलिस को कई सारे सुराग मिले थे। जिसकी वजह से पुलिस आरोपियों तक पहुंच पाई। सीओ तृतीय अनिल समानिया के अनुसार ज्वैलर का बेटा योगेश उर्फ राजा अपनी पत्नी के साथ अलग रहता था। माता पिता इस बात से नाराज रहते थे और खर्चा नहीं देते थे। लूट के दौरान पहचान होने के डर से इसने अपनी मां कंचन वर्मा को मार दिया।

पुलिस की दो टीमों ने मिलकर ये केस हल किया है। एसएसपी ने लगातार मॉनीटरिंग कर व एसपी क्राइम व एसपी सिटी ने हर इनपुट पर मंथन कर इस केस को हल किया। आरोपियों को पकड़ने के लिए पचास से ज्यादा सीसीटीवी देख गए थे। वहीं जब पुलिस को बेटे व उसकी पत्नी पर शक हुआ, तो इन दोनों से पूछताछ की गई। इन दोनों को अलग-अलग बैठाकर इनसे पुलिस ने कई सवाल किए जिनका ये जवाब नहीं दे पाए। जिसके बाद पुलिस ने इन्हें पकड़ लिया और घर से लूटा गया माल भी बरामद कर लिया। पुलिस को आरोपी बेटे की दोस्त तनुज की प्रेमिका रिन्नी के घर से लूट का शत-प्रतिशत सामान मिला है। पुलिस को लूटे गए सोने चांदी हीरे के आभूषण जिनकी कीमत एक करोड़ थी और 1 लाख रुपए की नकदी मिली है।

एसएसपी मुनिराज जी ने इस मामले पर जानकारी देते हुए कहा कि सराफ के घर हुई घटना के खुलासे में ज्वैलर के बेटे व उसके कुछ दोस्तों के खिलाफ सुराग मिले थे। उनसे पूछताछ जारी है। लगभग स्पष्ट है कि बेटे ने ही अपने दोस्तों संग मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया। रविवार को तस्वीर साफ कर दी जाएगी।