ब्रेकिंग न्यूज़

वाशिंगटन में लगाई गई 15 दिनों की इमरजेंसी, 20 जनवरी को राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे जो बाइडन

वाशिंगटन स्थित कैपिटल हिल में बुधवार को डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों द्वारा हिंसा किए जाने के बाद यहां पर इमरजेंसी लगा दी गई है। ट्रंप समर्थकों की ओर से की गई हिंसा को देखते हुए वाशिंगटन में कर्फ्यू लगाने का एलान किया है और भारी संख्‍या में पुलिसबल की तैनाती भी इस जगह कर दी गई है। दूसरी तरफ जो बाइडन के अमेरिका के नए राष्ट्रपति बनने की सारी प्रक्रिया पूरी हो गई है। बाइडन की जीत के लिए जरूरी 270 इलेक्टोरल कॉलेज वोटों को संसद के दोनों सदनों ने प्रमाणित कर दिया है। अब ये 20 जनवरी को अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ लेंगे।

वहीं कल कैपिटल हिल में डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों द्वारा प्रदर्शन किया जा रहा था। जिसने हिसंक रूप ले लिया था। इस हिंसक झड़प में एक महिला समेत चार लोगों की मौत भी हो गई। जबकि तीन लोगों की हालत अभी भी गंभीर है। इस हिंसक के आरोप में पुलिस ने अभी तक 52 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जब कैपिटल हिल में इलेक्टोरल कॉलेज की प्रक्रिया चल रही थी। उस दौरान ये हिंसा हुई। इस प्रक्रिया के तहत बाइडन की जीत पर मुहर लगाई जा रही थी। जिसके विरोध में ट्रंप समर्थकों ने हंगामा करना शुरू कर दिया और हिंसा भड़क गई। ये समर्थक डोनाल्ड ट्रंप को दोबारा राष्‍ट्रपति बनाने और वोटो की गिनती दोबारा कराने की मांग कर रहे थे।

वाशिंगटन में बिगड़े हालातों को देखते हुए यहां पर कर्फ्यू लगा दिया गया है और भारी संख्‍या में पुलिसबल की तैनाती भी की गई है। वहीं यहां के मेयर ने 21 जनवरी तक के लिए 15 दिनों की इमरजेंसी का एलान भी कर दिया है। पुलिस का कहना है कि ट्रंप समर्थकों के पास हथियार और ज्‍वलनशील पदार्थ हैं। जो कि घातक साबित हो सकते हैं।

हर किसी ने की निंदा

इस घटना की अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति बराक ओबामा, जॉर्ज डब्‍ल्‍यू बुश समेत भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निंदा की है। पीएम मोदी ने निंदा करते हुए कहा कि वो अमेरिका में हुई हिंसक झड़प की खबर से काफी दुखी हैं। सत्‍ता का हस्‍तांतरण बेहद शांत और खुशनुमा माहौल में पूरा किया जाना चाहिए। लोकतंत्र में इस तरह की घटनाओं की कोई जगह नहीं है। जबकि ओबामा ने अपने बयान में कहा कि आने वाला समय इस दिन को हमेशा याद रखेगा कि कैसे मौजूदा राष्‍ट्रपति ने झूठ बोलकर चुनाव परिणामों को गलत साबित करने की कोशिश की और गैरकानूनी गतिविधियों को बढ़ावा दिया।

इस घटना के बाद सोशल मीडिया वेबसाइट फेसबुक, ट्विटर और इंस्‍टाग्राम ने कुछ घंटों के लिए राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप का अकाउंट भी सस्‍पेंड कर दिया है। वहीं 20 जनवरी को डोनाल्‍ड ट्रंप राष्‍ट्रपति पद से हट जाएंगे और उनकी जगह जो नए राष्‍ट्रपति का पद संभाल लेंगे।

Back to top button