बॉलीवुड

भदोही की बेटी के लिए सोनू सूद बने मसीहा, एक्टर की मदद से हुई सफल सर्जरी, मिली नई जिंदगी

अभिनेता सोनू सूद कोरोना काल में लोगों की हर संभव मदद करने में जुटे हुए हैं। यह अपनी दरियादिली और नेक कार्य के चलते लोगों के बीच मसीहा बनकर उभरे हैं। लगातार जरूरतमंद लोग इनसे सहायता मांगते हैं और यह भी हमेशा इन लोगों की सहायता के लिए तैयार रहते हैं। इसी बीच अभिनेता सोनू सूद की सहायता से एक लड़की को नया जीवन मिल पाया है। आपको बता दें कि बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता सोनू सूद की सहायता से भदोही की बेटी की रीढ़ की हड्डी की सफल सर्जरी हो गई। इसका पूरा खर्च अभिनेता सोनू सूद ने उठाया है।

बस दुर्घटना में हो गई थी घायल

यह ताजा मामला यूपी के भदोही जिले का है। जहां पर अभिनेता सोनू सूद के प्रयास से एक युवती का जीवन बच पाया है। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के भदोही की औराई तहसील के घोसिया गांव की युवती 20 अप्रैल को एक बस दुर्घटना में घायल हो गई थी, इस दुर्घटना में उसके सिर और पैर में गंभीर चोट आई थी, जिसके कारण इस युवती की रीढ़ की हड्डी को काफी नुकसान पहुंचा था। दुर्घटना के कारण यह युक्ति इतनी असहाय हो गई थी कि यह बिस्तर से भी उठ नहीं पा रही थी। अपने शरीर से लाचार यह युवती करीब 3 महीने से बिस्तर पर असहाय अवस्था में लेटी रहती थी। इसकी माता का देहांत हो चुका है परंतु इसके पिता ने दूसरा विवाह कर लिया था। दूसरी मां ने इसका खाना पीना बंद कर दिया, लेकिन किसी भले इंसान की सहायता से उसका वीडियो ट्विटर के माध्यम से बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद तक पहुंच गया। जब सोनू सूद ने इस लड़की की दशा देखी तो एक्टर का दिल पसीज गया और इसकी सहायता के लिए सामने आए।

सोनू सूद की मदद से भदोही की बेटी की हुई सफल सर्जरी

अभिनेता सोनू सूद हमेशा से ही गरीब और जरूरतमंद लोगों के लिए मसीहा बने हुए हैं। इसी बीच भदोही की बेटी के लिए भी यह मसीहा बनकर सामने आए और इन्होंने इस युवती को स्वस्थ करने का वादा किया। अभिनेता की टीम ने इस युवती से संपर्क बनाया। आपको बता दें कि बीते शुक्रवार के दिन ही करनाल में यह युवती आ गई और सभी प्रकार की आवश्यक चिकित्सीय जांच के पश्चात रविवार दशहरे के दिन सर्जरी हुई थी। विर्क अस्पताल के डायरेक्टर डॉ. बलबीर विर्क ने बताया कि न्यूरो सर्जन डॉक्टर अश्वनी कुमार सहित उनकी टीम ने सर्जरी की।

यह है उसकी पूरी कहानी

यह युवती भदोही निवासी है, जिसका नाम प्रतिभा है। इसके पिता जी कालीन सप्लाई का काम करते थे। इनका व्यवहार कुछ ठीक नहीं था। जब युवती के साथ दुर्घटना हुई तो पिता ने इसका साथ बिल्कुल भी देना बंद कर दिया था। 12 वर्ष की उम्र में ही इसकी मां दुनिया छोड़कर चली गई थी। बाद में पिता ने दूसरा विवाह कर लिया। तभी से यह अपना जीवन बेहद संघर्षपूर्ण व्यतीत कर रही है। आठवीं कक्षा तक पढ़ाई करने के पश्चात इसने नई दिल्ली के एक ब्यूटी पार्लर में काम करना शुरू किया था। काम पर आते-जाते के दौरान ही इनके साथ बस हादसा हो गया था। करीब 3 महीने से यह असहाय अवस्था में बिस्तर में ही पड़ी रहती थी। किसी जान-पहचान वाले व्यक्ति ने वीडियो में प्रतिभा की अपील ट्विटर पर पोस्ट की। तब आखिर में अभिनेता सोनू सूद फरिश्ता बनकर सामने आए।

Show More
Back to top button