किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना में फिटजी भिलाई के 17 छात्र चमके

भिलाई, मार्च, 2016: फिटजी भिलाई के दीर्घकालीन क्लासरूम प्रोग्राम के 17 छात्रों ने किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (केवीपीवाई), 2015 में कामयाबी पाते हुए अपनी असाधारण शैक्षणिक प्रतिभा का प्रदर्शन किया है। राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना, केवीपीवाई 2015 परीक्षा के घोषित परिणाम में फिटजी के छात्रों को बेहतरीन प्रदर्शन रहा है।
फिटजी भिलाई के सेंटर प्रमुख जगदीश तुलस्वानी बताते हैं, इस तरह की परीक्षा में सफल होने के लिए कठिन प्रैक्टिस की जरूरत होती है। इस तरह की प्रतियोगी परीक्षा में आईक्यू लेवल बढ़ाने के लिए आपको बहुत कड़ी मेहनत करनी पड़ती है, फिटजी द्वारा उपलब्ध कराए गए स्टडी मैटेरियल पर अभ्यास करना पड़ता है, सभी शंकाओं के निवारण के लिए नियमित क्लास जाना पड़ता है और व्यक्तिगत स्तर पर मार्गदर्शन की आवश्यकता पड़ती है।
फिटजी के छात्रों ने केवीपीवाई स्टेज 2 के सभी शीर्ष 5 स्थानों पर कब्जा जमाया है। फिटजी दुर्गापुर सेंटर से आयरिन घोष ने टॉप रैंक पाया और उसे एआईआर-1 घोषित किया गया, इसके बाद फिटजी कोलकाता सेंटर के देबादित्य प्रमाणिक को एआईआर-2 रैंक मिला। फिटजी दिल्ली (पंजाबी बाग) सेंटर के कुशाग्र जुनेजा ने तीसरा स्थान, फिटजी कोयंबटूर सेंटर के विजय कृष्णा ने चौथा स्थान और फिटजी फरीदाबाद सेंटर के आदित्य शर्मा ने पांचवां स्थान हासिल किया। 
फिटजी के कुल 776 छात्र केवीपीवाई 2015 के लिए चुने गए हैं।
‘‘किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना’’ भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा चलाया जा रहा एक प्रोग्राम है जिसके तहत बेसिक साइंस, इंजीनियरिंग और मेडिसिन जैसे क्षेत्रों में शोध कैरियर बनाने वाले छात्रों को प्रोत्साहित किया जाता है। केवीपीवाई प्रोग्राम का लक्ष्य शोध में दक्षता रखने वाले प्रतिभाशाली छात्रों की पहचान करना और उन्हें प्रोत्साहित करना है। इस प्रोग्राम के जरिये छात्रों को उनकी क्षमता का आकलन करने में मदद की जाती है और सुनिश्चित किया जाता है कि विज्ञान की सर्वश्रेष्ठ प्रतिभाओं को देश के शोध एवं विकास कार्यों में लगाया जाए। 
देशभर से ग्यारहवीं और बारहवीं कक्षा के हजारों छात्र इस परीक्षा में शामिल हुए थे। केवीपीवाई स्टेज टू में सफल होने वाले सभी छात्रों को फेलोशिप दी जाएगी जो उनकी पसंद के विषय में गहरा ज्ञान हासिल करने के लिए प्रोत्साहन और प्रेरणा की तरह काम करेगी। 
चयनित छात्रों को छात्रवृत्ति की पर्याप्त रकम (प्री-पीएचडी लेवल तक) दी जाती है।
केवीपीवाई की लिखित परीक्षा नवंबर 2015 में आयोजित हुई थी जिसके बाद फरवरी में इंटरव्यू लिए गए थे और इसके परिणाम मार्च के आखिरी हफ्ते में घोषित हुए थे। 
फिटजी के दीर्घकालीन क्लासरूम प्रोग्राम में छात्रों को आईआईटी-जेईई, बोर्ड परीक्षाओं, एनटीएसई, केवीपीवाई, सैट, ओलिंपियाड तथा अन्य इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं में उत्कृष्ट परिणाम पाने के लिए तैयार किया जाता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.