गर्मी में होने वाली परेशानियों से बचना चाहते हैं तो खाएं यह, मिलेगी तुरंत राहत

गर्मी का मौसम शुरू हो चुका है। यह मौसम भीषण गर्मी के साथ-साथ कई परेशानियां भी लेकर आता है। इस मौसम में लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। खासतौर से गर्मी का मौसम बच्चों के लिए बहुत हानिकारक होता है। इस मौसम में खास तरह की देखभाल की जरूरत पड़ती है। इस मौसम में जरा सी भी लापरवाही से लोगों को कई खतरनाक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। कई बार उन्हें अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ता है।

खुशबू कर लेती है आकर्षित:

गुलाब के फूल की खूबसूरती से तो आप परिचित होंगे। इसकी भीनी-भीनी खुश्बू किसी को भी अपनी तरफ आकर्षित कर सकती है। गुलाब के फूल का इस्तेमाल कई तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स बनाने में किया जाता है। गुलाब के फूल से उसका अर्क निकालकर बहुत महंगा सेंट बनाया जाता है। वहीं इससे गुलाबजल भी बनाया जाता है। इसकी पंखुड़ियों से बना हुआ गुलकंद गर्मी के मौसम में सबसे अच्छा होता है। गुलकंद खाने में तो स्वादिष्ट होता ही है, साथ ही गर्मी में होने वाली कई परेशानियों से बचाता भी है। आज हम आपको गुलकंद खाने से होने वाले फायदे बताने जा रहे हैं।

 

गुलकंद खाने से होते हैं ये फायदे:

*- गुलाब की तासीर ठंडी होती है, इसलिए इससे बना गुलकंद भी ठंडा होता है। इसको खाने से शरीर में ठंडी रहती है, जिस वजह से व्यक्ति लू और भयानक गर्मी से बचा रहता है। केवल यही नहीं गर्मी में होने वाली कई और परेशानियों से भी रक्षा होती है।

*- अगर आपका दिमाग कमजोर है तो सुबह-शाम दूध के साथ एक चम्मच गुलकंद खाएं, इससे आपका दिमाग तेज होगा। इसके सेवन से गुस्सा भी कम आता है।

*- गुलकंद के सेवन से पेट सम्बन्धी परेशानियां भी खत्म हो जाती हैं। यह पाचनक्रिया भी मजबूत करती है, जिससे व्यक्ति को जल्दी भूख लगती है।

*- कई लोगों के शरीर में गर्मी बहुत ज्यादा होती है, जिस वजह से उन्हें बहुत ज्यादा छाले होते रहते हैं। इसके सेवन से आराम मिलता है और चेहरे पर भी निखर आता है।

*- गर्मी के मौसम में राहत देने के साथ-साथ यह आंखों के लिए भी फायदेमंद है। आंखों की जलन दूर करके आंखों की रौशनी बढ़ाने में फायदेमंद है। इसके सेवन से आपकी थकान भी कम हो जाती है।

नोट: हालांकि गुलकंद बहुत फायदेमंद है लेकिन यह बहुत मीठा होता है, इसलिए मधुमेह के रोगी को इसका सेवन करने से बचें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.