नई दिल्ली  चाणक्यपुरी इलाके में शनिवार को एक अजीब और बहुत ही शर्मनाक घटना हुई, 4 युवकों ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की सरकारी कार का पीछा किया। इन चारों युवकों ने स्मृति ईरानी की सरकारी कार का पीछा किया। लेकिन, सबसे खास बात यह रही कि स्मृति ईरानी ने पीछा कर रहे इन मनचलों का खुद पीछा कर रोका और 100 नंबर पर कॉल कर इस मामले के बारे में पुलिस को बताया। यह घटना शनिवार शाम करीब साढ़े पांच बजे की है। Smriti Irani car chased.

नशे में धुत छात्रों ने किया स्मृति ईरानी की कार का पीछा –

खबरों के मुताबिक, यह चारों आरोपी लड़के DU के मोतीलाल नेहरू कालेज के BSC के छात्र हैं और ये सभी दिल्ली के वसंत गांव में किराए पर रहते हैं। चारों ने यह शर्मनाक हरकत उस वक्‍त की जब ये जन्मदिन की पार्टी मनाकर शराब के नशे मे धुत अपने रूम पर वापस लौट रहे थे।

इन चारों की पहचान कुणाल, अभिमन्यु, सितांशु और अनंत के रूप में हुई है। ये चारों जिस कार से स्मृति ईरानी की कार का पीछा कर रहे थे, वह सितांशु के पिता की कार है। पुलिस आज इन चारों को कोर्ट में पेश करेगी। पुलिस ने इनपर आईपीसी की धारा 354 और 509 के तहत केस दर्ज किया है।

जब स्मृति ईरानी सुरक्षित नहीं तो आम लोगों का क्या होगा –

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी जब एयरपोर्ट से अपने आवास की ओर जा रही थीं। उसी दौरान उन्होंने उनका पीछा कर रही कार का पीछा करते हुए खुद उन लड़कों को रोका। इस पूरे मामले पर सोशल मीडिया पर काफी चर्चा हुई। लोगों ने ट्वीट कर कहा कि, जब स्मृति ईरानी ही सुरक्षित नहीं तो फिर आम लोगों का क्या होगा? लोगों ने कहा कि केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी तक दिल्ली जैसे शहर में सुरक्षित नहीं हैं।

गौरतलब है कि स्मृति ईरानी ने 3 अप्रैल, 2015 को ठीक दो साल पहले गोवा के फैब इंडिया के शोरूम के चेंजिंग रूम में लगे खुफिया कैमरे को पकड़ा था। खुफिया कैमरा पकड़े जाने के बाद उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.