समाचार

भारतीय व्यक्ति को ही एक हज़ार का लालच देकर बनाया नेपाली, ऐसे आई असलियत बाहर

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में जबरन एक नेपाली नागरिक का मुंडन करवाने का वीडियो खूब वायरल हुआ था

हाल ही में उत्तर प्रदेश के वाराणसी में जबरन एक नेपाली नागरिक का मुंडन करवाने का वीडियो खूब वायरल हुआ था। जिसके बाद पुलिस ने विश्व हिंदू सेना से जुड़े लोगों पर केस दर्ज किया था। वहीं अब इस मामले में नया मोड़ आया है और जिस नेपाली नागरिक का मुंडन किया गया था वो भारतीय निकला है। वाराणसी के एसएसपी (SSP) अमित पाठक के मुताबिक वीडियो में दिख रहा नेपाली युवक भारतीय हैं। दरअसल पुलिस टीम ने इसे हिरासत में लिया था और इससे पूछताछ की थी। पुलिस के अनुसार कथित नेपाली युवक ने बताया कि उसका नाम धर्मेंद्र सिंह है, वो भारतीय है और वो साड़ी की दुकान में काम करता है।

1000 रुपए लेकर बनाया था वीडियो

धर्मेंद्र सिंह के अनुसार उसे मुंडन का वीडियो बनाने के लिए 1000 रुपए दिए गए थे और पैसों के लालच में वो नेपाली बन गया। एसएसपी ने बताया कि लॉकडाउन की वजह से आर्थिक तंगी के कारण संस्था के सदस्यों ने धर्मेंद्र सिंह को 1000 रुपये का लालच दिया। जिसके बाद उसने वीडियो बनावा लिया। वहीं इस मामले में विश्व हिंदू सेना के संस्थापक और मुख्य आरोपी अरुण पाठक सहित अज्ञात कार्यकताओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

किया गया 4 लोगों को गिरफ्तार

पुलिस ने इस मामले में अभी तक 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए लोगों का नाम संतोष पांडेय, राजू यादव, अमित दुबे और आशीष मिश्रा बताया जा रहा है। वहीं इस मामले को सख्ती से लेते हुए यूपी डीजीपी एचसी अवस्थी ने वाराणसी के सीनियर अफसर को जांच कराने के आदेश दिए हैं। वहीं मुख्य आरोपी अरुण पाठक अभी भी फरार है और उसकी तलाश की जारी है।

इन धाराओं में हुआ केस दर्ज


वाराणसी पुलिस के अनुसार नेपाली व्यक्ति का सर मुंडवाने और आपत्तिजनक नारेबाजी का केस भेलूपुर थाने में दर्ज किया गया है। पुलिस ने 335/20 धारा 295, 505, 120B,153A, 67आईटी एक्ट, 7 सीएलए एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

गौरतलब है कि एक वीडियो हाल ही में खूब वायरल हुआ था। जिसमें बनारस में रहने वाले नेपाली नागरिक का बुधवार को जबरन मुंडन किया गया था। इस नेपाली नागरिक के सिर पर जय श्रीराम का नारा लिखा गया था और उससे नेपाली प्रधानमंत्री मुर्दाबाद का नारा लगवाया गया था। इस युवक से बुलवाया गया कि वो इस देश में ही रहता है और यहीं का खाता है और श्रीराम का जन्म भारत में ही हुआ था। वे नेपाल के नहीं हैं। इतना ही नहीं विश्व हिंदू सेना ने सोशल मीडिया पर ये वीडियो जारी करते हुए बनारस में रह रहे नेपाली नागरिकों को चेतावनी भी दी थी। वीडियो में इन्होंने कहा था कि नेपाल के पीएम लगातार ऐसे बयान देंगे तो इसका परिणाम उन्हें भुगतना होगा।

गौरतलब है कि हाल ही में नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली ने भगवान श्रीराम को लेकर एक बयान दिया था और इस बयान में कहा था कि श्रीराम नेपाल के थे। केपी शर्मा ओली के इसी बयान के चलते ये वीडियो बनाया गया था। वहीं जैसे ही ये वीडियो वायरल हुआ पुलिस ने विश्व हिंदू सेना के खिलाफ केस दर्ज कर लिया ।

Back to top button