राजनीति

पायलट को पद से हटाने पर अदिति का छलका दर्द, बोली- मुझे तो शादी के अगले दिन थमा दिया था नोटिस

रायबरेली की विधायक अदिति सिंह ने सचिन पायलट का समर्थन किया है और कांग्रेस पर निशाना साधा है। अदिति सिंह कांग्रेस पार्टी की विधायक थी और हाल ही में इन्हें कांग्रेस पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया गया था। वहीं अब कांग्रेस और सचिन पायलट के बीच में चल रही तनातनी पर अदिति सिंह ने सचिन पायलट का साथ दिया है और अपना उदाहरण देते हुए कहा है कि मुझे तो शादी के अगले दिन ही नोटिस थमा दिया गया था। मेरा जुर्म सिर्फ इतना था कि मैंने सदन में अपनी बात रखी थी।

गौरतलब है कि सचिन पायलट ने राजस्थान के मुख्यमंत्री आशोक गहलोत के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर की थी। जिसके बाद सचिन पायलट से उनके तमाम पदों को कांग्रेस ने छीन लिया था। इस मसले पर अब पूर्व कांग्रेस नेता अदित सिंह की प्रतिक्रिया सामने आई है।

क्या कहा अदित सिंह ने

अदित सिंह ने कहा कि ‘मैं दूसरों के मामलों में तो कुछ नहीं बता सकती हूं। उनके मामले में क्या सुनवाई हुई और फिर क्या हुआ। लेकिन हां मेरे मामले में जो मेरे साथ हुआ है वो सबके सामने है। मेरी ये गलती थी कि मैंने 2 अक्टूबर को हाउस में जाकर अपनी बात रखी थी। उसके बाद कांग्रेस ने मेरी शादी के एक दिन बाद मुझे नोटिस भेज दिया था। मेरा क्या कसूर था, मैंने उस हाउस में बोला था जिसके लिए मैं निर्वाचित हूं।

अदित सिंह ने आजतक चैनल से बातचीत करते हुए आगे कहा कि मैं उत्तर प्रदेश विधानसभा की सदस्य हूं। ये मेरा फर्ज है कि मैं बोलूं। मैंने कई मसलों को लेकर शिकायत की थी। लेकिन कुछ सुनवाई नहीं हुई। तो मैंने शिकायत करना ही बंद कर दिया। मैं शिकायत करने में ज्यादा विश्वास भी नहीं करती हूं। मैं अपने क्षेत्र की समस्याओं के लिए सदन पहुंची हूं और वही करने का प्रयास कर रही हूं।’

गौरतलब है कि हाल ही में अदित सिंह को कांग्रेस पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया गया था। इतना ही नहीं अदित सिंह के अलावा राकेश सिंह को भी पार्टी से अलग कर दिया गया था। पार्टी से अलग करने के बाद इन दोनों की विधानसभा सदस्यता रद्द करने की याचिका कांग्रेस की और से यूपी विधानसभा में डाली गई थी। लेकिन विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित ने साक्ष्यों के अभाव में इस याचिका को खारिज कर दिया था। कांग्रेस की और से दायर की गई इस याचिका में इन दोनों विधायकों पर पार्टी विरोधी गतिविधियों का आरोप लगाया था।

इस वजह से निकाली गई थी पार्टी से

दरअसल अदित सिंह द्वारा योगी सरकार के पक्ष में दिए जाने वाले बयानों के कारण इन्हें पार्टी से निकाला गया था। लॉकडाउन के दौरान बस विवाद पर कांग्रेस की नेता प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर कई सारे आरोप लगाए थे। तब अदित ने योगी सरकार के कामों की तारीफ कर इन आरोपों को गलत बताया था। अदित के इन बयानों के बाद इन्हें तुरंत पार्टी से निकाल दिया गया था। वहीं अदिति सिंह ने जून में कांग्रेस पार्टी के सारे वाट्सऐप ग्रुप को भी छोड़ दिया था। इससे पहले इन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से कांग्रेस का नाम हटा दिया था। अदित सिंह के अलावा कांग्रेस पार्टी के प्रसिद्ध नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी पार्टी को छोड़ दिया था।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close