इतिहास में पहली बार संसद में मनेगा हिंदू नववर्ष का उत्सव, पीएम मोदी भी रहेंगे मौजूद!

संसदीय इतिहास में शायद यह पहला मौका होगा जब संसद का आगाज हिंदू पंचांग के मुताबिक नव वर्ष के उत्सव के साथ होगा. इस बार जब पूरा देश भारतीय नव वर्ष मना रहा होगा तो देश की संसद भी इससे अछूती नहीं रहेगी. दरअसल, मंगलवार से नवरात्रि शुरू हो रही है. इसलिए इस बार संसद के बजट सत्र में वर्ष प्रतिपदा के अवसर पर नूतन संवत्सर समारोह का आयोजन किया जाएगा. बताया जा रहा है कि इस समारोह की मेजबानी लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन करेंगी और इस अवसर पर दोनों सदनों के सांसद और संसद भवन का पूरा स्टाफ उपस्थित होगा. साथ ही इस मौके पर भोज का भी आयोजन किया गया है.

संसद में पहली बार होगा हिंदू नव वर्ष का आगाज:

सचिवालय के सूत्रों के अनुसार, आयोजन के लिए संसद में महाराष्ट्र शैली में गुड़ी टांगी जाएगी और दक्षिण के भारतीय रंगोली की भी खूबसूरत झलक देखने को मिलेगी. इस खास आयोजन के लिए संसद के कोर्टयार्ड 9 के पास एक विशेष प्रांगण को कलश से सजाया जा रहा है. बताया ये भी जा रहा है कि यह आयोजन पूर्ण रूप से कामकाजी आयोजन होगा. यही वजह है कि उत्सव के भोज का समय सामान्य दिन की तरह दोपहर के भोजनावकाश के वक्त रखा गया है.

लोकसभा स्पीकर करेंगी मेजबानी:

बताया जा रहा है कि भोजन करने के बाद भी श्रीखंड और हलवे ग्रहण करने के बाद भी सांसदों को सदन में बैठना होगा.

मीडिया रिपोर्ट की मानें तो बताया ये भी जा रहा है कि इस आयोजन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजूद रहेंगे. गौरतलब है कि वर्ष प्रतिपदा के साथ ही शुरू होने वाले चैत नवरात्र के मौके पर पीएम मोदी उपवास रखते हैं. इसलिए उनके लिए और अन्य उपवास रखने वाले सांसदों के लिए एक अलग और विशेष सात्विक भोज की व्यवस्था की गई है.

पीएम मोदी भी रहेंगे मौजूद:

गौरतलब है कि इस ऐतिहासिक आयोजन के लिए सभी राजनीतिक दलों से खुद लोकसभा स्पीकर ने उपस्थित रहने का आत्मीय आग्रह किया है. इसके अलावा आपको बता दें कि भारत में हिंदी पंचाग के अनुसार नए साल की शुरुआत चैत्र माह की पहली तिथि से होती है. विक्रम संवत्सर का नया वर्ष भी इसी तिथि से शुरू होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.