विशेष

ये परिवार है सरकारी नौकरी की खान, चौधरी बसंत सिंह के घर में 11 अफसर, मां-बेटे IAS तो पोती IPS

चौधरी बसंत सिंह श्योंकद, जिनका हाल ही में निधन हुआ है, वे अपने जीवन में ज्यादा पढ़ाई नहीं कर पाए। वे केवल चौथी पास थे। फिर भी उन्होंने अपने परिवार की पढ़ाई-लिखाई में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी। नतीजा यह हुआ कि अकेले उनके परिवार ने इस देश को दो IAS और एक IPS ऑफिसर के अलावा क्लास वन के 11 ऑफिसर दिए हैं।

यह परिवार हरियाणा के जींद जिले के डूमरखां कलां गांव का रहने वाला है। बीते मई में ही चौधरी बसंत सिंह श्योंकद ने दुनिया को अलविदा कहा है, मगर जब तक वे जिंदा रहे उन्होंने हमेशा पढ़े-लिखे, बड़े लोगों और अफसरों से ही दोस्ती रखी थी। खुद ज्यादा पढ़े-लिखे नहीं होने के बावजूद उन्होंने अपने चारों बेटों और तीनों बेटियों को यही संस्कार दिए कि वे अच्छी तरह से पढ़ाई करके ऑफिसर बन जाएं। उनके बच्चों ने मेहनत भी की और अपने पिता के सपनों को सच कर दिखाया।

चौधरी बसंत सिंह के चारों बेटों ने क्लास वन ऑफिसर बन कर दिखाया। उनकी तीनों बेटियों ने उसे जमाने में भी ग्रेजुएशन पूरा कर लिया। चौधरी बसंत सिंह की एक बहू IAS बन गईं, जबकि उनका एक बेटा भी IAS बन गया। एक पोती भी उनकी IPS बन गईं। उनके दोहती भी IRS बन गए हैं।

पहले बेटे का परिवार

रामकुमार श्योकंद जो कि बसंत सिंह के बड़े बेटे हैं और जो कॉलेज प्रोफेसर के पद से सेवानिवृत्त हुए हैं, उनकी तो पत्नी से लेकर बेटे और बेटी तक IAS और IPS अधिकारी हैं। इनकी पत्नी जयवंती श्योकंद भी IAS रह चुकी हैं। इनके बेटे यशेंद्र भी IAS हैं और फिलहाल रेवाड़ी में डिस्ट्रिक्ट कमिश्नर के तौर पर सेवा दे रहे हैं। इनकी बेटी स्मिति चौधरी भी IPS बन चुकी हैं। इस वक्त रेलवे SP के तौर पर अम्बाला में उनकी तैनाती है। वहीं, स्मिति के पति राजेश कुमार भी BSF में IG के पद पर मौजूद हैं।

बाकी बेटों का परिवार

सज्जन कुमार बसंत सिंह के दूसरे बेटे का नाम, जो कि महाप्रबंधक के तौर पर कॉन्फेड में सेवा दे चुके हैं। इनकी पत्नी कृष्णा भी डिप्टी DEO के तौर पर काम कर चुकी हैं। इनके तीसरे बेटे का नाम वीरेंद्र है, जो एसई रह चुके हैं। पत्नी इनकी इंडियन एयरलाइंस में डिप्टी मैनेजर के तौर पर सेवा दे चुकी हैं। साथ ही बसंत सिंह के चौथे बेटे गजेंद्र सिंह भारतीय सेना में देश की सेवा करते हुए कर्नल पद से सेवानिवृत्त हुए हैं। इस वक्त निजी पायलट के तौर पर वे काम कर रहे हैं।

बेटियों का परिवार

बसंत सिंह की बड़ी बेटी बिमला के बेटे अनिल ढुल बीबीएमबी में SE विजिलेंस, जबकि दूसरी बेटी कृष्णा जो प्रिंसिपल रह चुकी हैं, उनके पति रघुबीर पंघाल भारतीय सेना में मेजर रह चुके हैं। इनकी बेटी दया पंघाल ETO है। तीसरी बेटी कौशल्या के पति रणधीर सिंह SE पब्लिक हेल्थ के तौर पर सेवा दे चुके हैं। इनकी बेटी ऋतु चौधरी और पति अनुराग शर्मा दोनों IRS हैं। इस तरह से चौधरी बसंत सिंह के परिवार को सरकारी नौकरियों की खान कहना गलत नहीं होगा।

विडियो-


सौजन्य- One India 

पढ़ें आर्थिक तंगी के कारण भाई नहीं बन सका अफसर, तो रिक्शा चला बहन को बनाया डिप्टी कलेक्टर

Show More

Related Articles

Back to top button
Close