ब्रेकिंग न्यूज़

डेटिंग एप पर युवती ने छात्र से पहले की दोस्ती, फिर ये काम करने के बाद, छात्र को किया ब्लैकमेल

डेटिंग एप के जरिए मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एक छात्र को लंबे समय से ब्लैकमेल किया जा रहा था। वहीं ब्लैकमेलिंग से परेशान होकर इस छात्र ने पुलिस से मदद ली और सायबर सेल में शिकायत दर्ज करवा दी। खबरों के अनुसार इस डेटिंग एप का नाम ‘मेरी’ था और इस एप के जरिए इस युवक की दोस्ती एक युवती से हुई थी। कुछ दिनों तक एप पर चैटिंग करने के बाद इस युवती और युवक के बीच न्यूड चैट होने लगी और कई सारी न्यूड चैट की वीडियो और फोटो भी इन दोनों ने शेयर की। वहीं कुछ समय बाद युवती ने युवक को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया।

बीकॉम फ‌र्स्ट ईयर की है छात्र

पुलिस के अनुसार 18 वर्षीय युवक बीकॉम फ‌र्स्ट ईयर का छात्र है, जो कि लक्ष्मीगंज का निवासी है। 20 दिन पहले इसने डेटिंग एप ‘मेरी’ डाउनलोड की थी। जो कि एक फ्री एप है। इस एप के जरिए युवक को आसपास की लोकेशन की लड़कियों की जानकारी दी गई और इस दौरान इस युवक ने एक युवती से बात करना शुरू कर दिया। चैट करते हुए युवती ने खुद को ग्वालियर का ही बताया और चैट करने के तीन दिन बाद युवती ने युवक से अपने प्यार का इजहार किया। इतना ही नहीं अपने प्यार का यकीन दिलवाने के लिए युवती ने छात्र से फोटो भी मांगी और उसे अपनी फोटों भी दी।

न्यूड होकर की चैट

युवक को फंसाने के लिए युवती ने उससे न्यूड चैट शुरू की और दोनों ने कई दिनों तक न्यूड चैट की। वहीं चैट करने के बाद युवती ने छात्र की न्यूड वीडियो उसे वॉट्सएप पर भेजी और उसे धमकाने लग गई। युवती ने छात्र को धमकी दी कि अगर वो उसे फौरन 20 हजार रुपए नहीं देगा तो वो सोशल मीडिया, फेसबुक सहित सभी जगह पर उसकी वीडियो वायरल कर देगी।

पैसे देना किया शुरू

ब्लैकमेलिंग के बाद इस युवक ने पैसे देना शुरू कर दिया। इस युवक के पास 20 हजार रुपए नहीं थे। इसलिए इसने 2-2 हजार रुपये एक पेटीएम नंबर पर देना शुरू किए। पैसे देने के बाद भी युवक को ब्लैकमेल किया जाने लगा और बार-बार ब्लैकमेल से परेशान होकर छात्र ने हिम्मत दिखाते हुए सायबर सेल में शिकायत की। जिसके बाद पुलिस ने ब्लैकमेलिंग का केस दर्ज कर लिया और इस मामले की जांच शुरू की।

गैंग का हुआ पर्दाफाश

सायबर पुलिस ने जब इस केस की जांच की तो पाया कि नाइजीरियन गैंग (गिरोह) इस ब्लैकमेलिंग के पीछे हैं और गैंग इसी तरह की डेटिंग एप के जरिए युवकों को फंसाता है और उन्हें ब्लैकमेल करता है। ब्लैकमेलिंग के जरिए ये पैसे लूटने का काम करते हैं। इसी तरह से ये गैंग डेटिंग एप के माध्यम से ब्लैकमेल कर लाखों रुपये लोगों से हड़प चुका है।

पुलिस के अनुसार ऐसे गैंग दिल्ली, मुंबई जैसे शहरों में काफी पाए जाते हैं, लेकिन अब इन्होंने छोटे शहरों के लोगों को भी अपना निशाना बनाना शुरू कर दिया है। ग्वालियर से इस तरह के कई केस सामने आ रहे हैं। वहीं आम लोग बदनामी के डर से इन्हें पैसे देना शुरू कर देते हैं।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close