राजनीति

महाराष्ट्र: खतरे में है उद्धव ठाकरे की सरकार, लागू हो सकता है राष्ट्रपति शासन!

पूरी दुनिया इस समय कोरोना के भयानक संकट से गुजर रही है। भारत में भी कोरोना मरीजों की संख्या में जबरदस्त बढ़ोतरी हो रही है। देश में महाराष्ट्र कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित राज्य है। इसी बीच कोरोना की भयानक मार झेल रहे महाराष्ट्र में अब सरकार बचाने को लेकर खींचतान शुरू होती हुई दिख रही है। इतना ही नहीं, बीजेपी की तरफ से राष्ट्रपति शासन लागू करने की भी अपील की जा रही है।

पहली बार मातोश्री पहुंचे शरद पवार

सरकार पर संकट के कयासों के बीच एनसीपी के सर्वेसर्वा यानी शरद पवार मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मिले हैं। राजनीतिक गलियारों में मातोश्री में हुए इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है, क्योंकि शरद पवार मातोश्री तब भी नहीं गए थे, जब महाराष्ट्र मेें महाविकास अघाड़ी सरकार बनने वाली थी।  पिछले छह महीनों में जब से महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी की सरकार बनी है, तब से शरद पवार और उद्धव ठाकरे की मुलाकात या तो किसी पांच सितारा होटल या वर्षा बंगले, सहयाद्री गेस्ट हाउस, शिवाजी पार्क स्थित पूर्व मेयर बंगले में ही हुई। खास मौकों पर तो खुद सीएम उद्धव ठाकरे शरद पवार के घर गए, लेकिन शरद पवार हमेशा से मातोश्री जाने से बचते रहे हैं।

ऐसे में अचानक से मातोश्री में हुई बैठक के बारे में काफी कुछ कयास लगाए जा रहे हैं। राजनीतिक गलियारों में इस बैठक को लेकर काफी हलचल भी देखने को मिल रही है। महाराष्ट्र की राजनीति पर करीब से नजर रखने वालों का मानना है कि, यह बैठक कई मायनों में महत्वपूर्ण है। उनका कहना है कि हो सकता है सरकार पर कुछ संकट के बादल मंडरा रहे हों, जबकि कुछ लोगों का कहना है कि ये मुलाकात राज्य में कोरोना की गंभीर स्थिति को लेकर हुई है। अब देखना होगा कि मातोश्री में दोनों नेताओं के बीच हुए इस बैठक का परिणाम क्या होता है।

राज्यपाल से भी मिले शरद पवार

गौरतलब हो कि एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने सूबे के राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी से भी शिष्टाचार मुलाकात की है। इस मुलाकात के बाद से ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि महाराष्ट्र में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की गठबंधन सरकार पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है। इसी कारण से शरद पवार राज्यपाल से मिले हैं।

संजय राउत ने कहा- ‘सरकार मजबूत, कोई चिंता नहीं’

सीएम उद्धव और एनसीपी प्रमुख शरद पवार के बीच मातोश्री में हुई मुलाकात के बारे में शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत ने बताया कि, ‘ शरद पवार और उद्धव ठाकरे के बीच कल मुलाकात हुई है, लेकिन महाराष्ट्र सरकार पर किसी भी तरह का कोई संकट नहीं है।’ अपने ट्वीट में संजय राउत ने लिखा कि, ‘शरद पवार और उद्धव ठाकरे ने कल शाम मातोश्री में मुलाकात की, दोनों नेताओं ने करीब डेढ़ घंटे तक एक दूसरे से बातचीत की।’ इसी के साथ संजय राउत ने व्यंग्य कसते हुए लिखा कि अगर कोई महाराष्ट्र सरकार की स्थिरता को लेकर झूठी खबरें फैला रहा है, तो इसे लोगों का पेट का दर्द माना जाना चाहिए। सरकार मजबूत है, कोई चिंता नहीं। जय महाराष्ट्र।’

Back to top button
?>