स्वास्थ्य

जानें एक स्वस्थ्य आदमी को दिन में कितनी रोटी खानी चाहिए? वजन कम करने में भी मिलेगी मदद

वजन कम करने के लिए रोटी कितनी खा रहे हैं और किस वक्त खा रहे हैं दोनो जानना जरुरी है

आप जब भी घर पर खाना खाते होंगे तो मां आपको एक दो रोटी बढ़ाकर ही खाने को देती होंगी। ऐसा इसलिए क्योंकि भारतीय खाना रोटी का बिना अधूरा है और इस रोटी में बहुत ताकत होती है। रोटी में स्वाद इतना अच्छा होता है कि सब्जी कुछ भी बनी हो रोटी खाना जरुरी होता है। छोटे बच्चे तो अगर सब्जी से रोटी नहीं खाते तो उन्हें दूध-रोटी, दही-रोटी या चीनी रोटी के रुप में रोटी परोसी जाती है। हर इंसान अपनी भूख और क्षमता के हिसाब से रोटी खाता है। कुछ लोग वजन कम करने के चक्कर में सबसे पहले रोटी कम कर देते हैं। ऐसे में आपको जानना जरुरी है कि अगर आपको वेट लॉस करना है तो कितनी रोटी खानी चाहिए आपको।

कितनी रोटी खाएं

लगभग हर भारतीय घर में गेंहू के आटे की ही रोटी बनाई जाती है। इसमें भारी मात्रा में मैक्रो-न्य़ूट्रीएंट होते हैं। साथ ही इसमें प्रोटीन और फाइबर भी बहुत अच्छी मात्रा में होता है। ऐसे में जब आप रोटी खाते हैं तो आपका पाचन सही रहता है। अगर आप 6 इंच की एक रोटी खाते हैं तो आपके शरीर में करीब 15 ग्राम कार्बस, 3 ग्राम प्रोटीन और 0.4 फाइबर मिलता है।

शरीर का वजन कम करने के लिए ये जानना जरुरी है कि आपके शरीर में कितने कार्ब्स की जरुरत है। ऐसे में उस हिसाब से रोटी खानी चाहिए। अगर आप दूध, सोडा, चीनी या तेल खाते है तो आपके शरीर में कार्ब्स की मात्रा बढ़ जाती है। ऐसे में रोटी के जरिए शरीर में कम कार्ब्स डालना चाहिए। अगर आप ऐसी चीजें ज्यादा खा रहे हैं तो फिर रोटी कम ही खाएं।

किस वक्त रोटी के सेवन से मिलेगा फायदा

वजन कम करने के लिए कितनी रोटी खाना चाहिए ये जानना जरुरी है। गौरतलब है कि रोटी की मात्रा पुरुषों और महिलाओं के लिए अलग अलग होती है। अगर आप महिला हैं और आपका डॉयट प्लान दिन में 1400 कैलोरी लेने का है तो आपके दो रोटी दिन में और दो रोटी रात में खानी चाहिए। वहीं अगर आप पुरुष हैं और आपका डायट प्लान 1700 कैलोरी का है तो आप दिन और रात दो वक्त तीन तीन रोटी खा सकते हैं।

वजन कम करने के लिए सिर्फ रोटी की गिनती ही जरुरी नहीं है। आपको ये ध्यान रखना भी जरुरी है कि किस वक्त कितनी रोटी खानी चाहिए। हेल्थ एक्सपर्ट की मानें को रात की तुलना में दिन में रोटी खाना ज्यादा बेहतर होता है। असल में रोटी में फाइबर होता है जो इसके पचने की प्रोसेस को स्लो करता है। जब आप दिन में रोटी खाते हैं तो साथ ही काफी मेहनत कर रहे होंते हैं और काम कर रहे होंते। ऐसे में रोटी आपके शरीर को बहुत ज्यादा नहीं लगती और आपको एनर्जी देती है।

दूसरी तरफ जब आप रात में रोटी खाते हैं और सो जाते हैं तो इसके पचने की क्रिया चालू रहती है। ये शरीर के लिए सही नहीं माना जाता। ऐसे में रात के वक्त रोटी खाना सही नहीं होता। हालांकि रोटी का सेवन चावल के सेवन से ज्यादा बेहतर माना जाता है। रोटी में ग्लाइसेमिक इंडेक्स ज्यादा होता है जिससे पेट ज्यादा देरी तक भरा रहता है। साथ ही ये ब्लड शुगर लेवल को धीरे धीरे प्रभावित करता है। दूसरी तरफ चावल में ग्लाइसेमिक इंडेक्स ज्यादा होता है और ये जल्दी पच जाता है। ये आपके ब्लड शुगर लेवल को तेजी से इफेक्ट करता है। ऐसे में रोटी खाना हर हाल में बेहतर है।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close