स्वास्थ्य

क्या धूप में बैठने से कोरोना को जल्दी हराया जा सकता हैं? जाने ‘विटामिन डी’ से इसका संबंध

कोरोना वायरस (Corona Virus) का कहर इन दिनों पूरी दुनिया में बरस रहा हैं. लगभग हर देश में इसके मामले दिन प्रतिदिन बढ़ रहे हैं. पूरी दुनिया में कोरोना के कारण तीन लाख से अधिक जान जा चुकी हैं. वहीं 16 लाख से अधिक लोग कोरोना को मात देकर ठीक भी हुए हैं. इस बीच एक नई स्टडी में चौकाने वाला खुलासा हुआ हैं. इसके अनुसार यदि आपके अंदर विटामिन डी (Vitamin D) की कमी हैं तो आपके कोविड-19 से बीमार होने के चांस और भी बढ़ जाते हैं. वहीं यदि आपके अंदर विटामिन डी पर्याप्त मात्र में हैं तो कोरोना से लड़ने की शक्ति भी बढ़ जाती हैं. तो आखिर इस विटामिन डी और कोरोना के बीच क्या रिश्ता हैं? आइए जानते हैं.

इन्होने की स्टडी

विटामिन डी और कोविड-19 के बीच रिलेशन की स्टडी को यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom) के एंजिला रस्किन यूनिवर्सिटी ( Anglia Ruskin University, ARU) और क्वीन एलिजाबेथ हॉस्पिटल किंग ( Queen Elizabeth Hospital King) के लीन एनएचएस फाउंडेशन ट्रस्ट (Lynn NHS Foundation Trust) के वैज्ञानिकों ने की हैं. यह स्टडी एक जर्नल में प्रकाशित भी हो चुकी हैं.

क्या हैं विटामिन डी?

विटामिन डी भोषण में पाया जाने वाला एक पोषक तत्व होता हैं जो आपकी सेहत को मेंटेन रखने में और हड्डियों को मजबूत बनाए रखने में सहायता करता हैं. विटामिन डी की वजह से हमारी बॉडी खाने और सप्लीमेंट्स में से कैल्शियम अच्छे से अब्सोर्ब कर पाती हैं. विटामिन डी हमारे शरीर के वाइट ब्लड सेल्स को सुचारू रूप से कार्य करने में मदद करता हैं. इससे ये वाइट ब्लड सेल्स बहुत ज्यादा इंफ्लेमेटरी साइटोकिन्स (inflammatory cytokines) रिलीज नहीं कर पाते हैं. इंफ्लेमेटरी साइटोकिन्स शरीर के इम्यून सिस्टम के वे पार्ट होते हैं जो इन्फेक्शन से लड़ने का काम करते हैं.

विटामिन डी और कोविड-19 के बीच कनेक्शन

कोरोना वायरस की वजह से इन प्रो- इंफ्लेमेटरी साइटोकिन्स का विस्फोट हो जाता हैं जिन्हें साइटोकिन स्टॉर्म (cytokine storm) कहते हैं. आसान भाषा में कहे तो कोरोना वायरस इन्फेक्शन से लड़ने वाले इम्यून सिस्टम के इस पार्ट को ढेर सारी मात्रा में रिलीज होने पर मजबूर कर देता हैं. इससे यह चीज एक बार में ही बॉडी से ख़त्म हो जाती हैं और आप लंबे समय तक वायरस से लड़ने में नाकाम होने लगते हो. इसलिए विटामिन डी का सेवन करने से यह इंफ्लेमेटरी साइटोकिन्स लिमिटेड मात्रा में ही रिलीज होंगे और लम्बे समय तक आपकी इम्यून शक्ति को मजबूत बनाए रखेंगे. यही वजह हैं कि जिन बूढ़े लोगो में विटामिन डी की कमी होती हैं उन्हें कोरोना वायरस सबसे ज्यादा प्रभावित करता हैं.

ऐसे मिलेगा विटामिन डी

धूप विटामिन डी पाने का सबसे अच्छा स्त्रोत माना जाता हैं. डॉक्टरों के अनुसार विटामिन डी श्वसन संक्रमण से रक्षा करने में भी लाभकारी सिद्ध होता हैं. धूप के अलावा फैटी फिश, सीफ़ूड (समुद्रीय खाना), मशरूम और एग योल्क्स (अंडे का पिला भाग) खाकर आप अपने शरीर में विटामिन डी की मात्रा बढ़ा सकते हैं. इसके अलावा विटामिन डी की सप्लीमेंट्स (गोलियां) भी खाई जा सकती हैं.

यदि आपके शरीर में विटामिन डी की कमी हैं तो आपके हेल्थ को ज्यादा खतरा हो सकता हैं. इसलिए ज्यादा से ज्यादा विटामिन डी ले और खुद को सुरक्षित कर ले.

Show More

Related Articles

Back to top button
Close